Pune News | पंचवार्षिक सर्वेक्षण की पूर्व तैयारी के तहत फेरीवाला समिति की बैठक

पिंपरी : Pune News | पंचवार्षिक सर्वेक्षण (five yearly survey) 2021- 2022 की पूर्व तैयारी की कड़ी में शहर फेरीवाला समिति की एक बैठक पिंपरी चिंचवड मनपा (Pimpri Chinchwad Municipal Corporation) द्वारा आयोजित की गई। इसमें मनपा आयुक्त राजेश पाटिल (Rajesh Patil) ने कहा, पिंपरी चिंचवड (Pimpri Chinchwad) को देश का स्वच्छ आणि सुंदर शहर बनाने की दिशा में हमारी कोशिशें जारी हैं। शहर के फेरीवालों का उचित नियोजन और प्रबंधन करने के लिए शहर (Pune News) में जल्द सर्वेक्षण किया जा रहा है। इसमें सहयोग देने की अपील भी उन्होंने की है।

 

आयुक्त राजेश पाटील की अध्यक्षता में मनपा मुख्यालय (Municipal Headquarter) में हुई बैठक में अतिरिक्त आयुक्त जितेंद्र वाघ, सहायक आयुक्त प्रशांत जोशी, ट्रैफिक पुलिस ब्रांच के सहायक पुलिस आयुक्त नंदकिशोर भोसले, मनपा क्षेत्रीय अधिकारी शितल वाकडे, सोनम देशमुख, अण्णा बोदडे, उमाकांत गायकवाड, राजेश आगळे, सिताराम बहुरे, विजय थोरात, रविकिरण घोडके, भूमि व जिंदगी विभाग के प्रशासन अधिकारी मुकेश कोलप, टपरी पथारी हाथगाडी पंचायत के प्रल्हाद कांबले, अनिता सावले, रमेश शिंदे, महाराष्ट्र फेरीवाला क्रांती महासंघाचे रफिक शेख, जाणीव संगठन के संजय शंके के साथ फेरीवाले संगठन के प्रतिनिधि प्रविण कांबले, एड. बी. के. कांबले, दामोदर मांजरे, मनिषा राऊत, ज्ञानेश्वर मोरे, सरोज अंबिके, डॉ. शिवदास पाटील आदि उपस्थित थे।

 

सहायक आयुक्त प्रशांत जोशी (Prashant Joshi) ने हॉकर्स प्रबंधन प्रणाली की कंप्यूटर प्रस्तुति और नीति की प्रारंभिक जानकारी दी। इसके बाद बैठक में संगठनों के प्रतिनिधियों ने विभिन्न सुझाव प्रस्तुत किए। इनमें शामिल हैं अतिक्रमण की कार्रवाई के दौरान फेरीवाले और उनके परिवार परेशान हैं। उनके साथ शिष्टाचार के साथ व्यवहार किया जाना चाहिए, फेरीवालों को पिछले सर्वेक्षणों में प्राथमिकता दी जानी चाहिए, उनका उचित स्थानों पर पुनर्वास किया जाना चाहिए और उन्हें प्रमाण पत्र और पहचान पत्र जारी किए जाने चाहिए, पेडलर्स की जब्ती जब्त नहीं की जानी चाहिए।

 

सहायक आयुक्त प्रशांत जोशी ने हॉकर्स प्रबंधन प्रणाली की कंप्यूटर प्रस्तुति और नीति की प्रारंभिक जानकारी दी।  इसके बाद बैठक में संगठनों के प्रतिनिधियों ने विभिन्न सुझाव प्रस्तुत किए। इनमें अतिक्रमण अभियान के दौरान परेशान किए जा रहे पेडलर्स और उनके परिवार शामिल हैं. उनके साथ शिष्टाचार से पेश आना चाहिए, पिछले सर्वेक्षणों में फेरीवालों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए, उन्हें उपयुक्त स्थानों पर पुनर्वास किया जाना चाहिए और उन्हें प्रमाण पत्र और पहचान पत्र जारी किए जाने चाहिए, पेडलरों की जब्ती जब्त नहीं की जानी चाहिए

 

आयुक्त राजेश पाटिल (Rajesh Patil) ने स्पष्ट किया कि संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा दिए गए उचित सुझावों को नीति में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार के अधिनियम के अनुसार, मनपा फेरीवालों का प्रबंधन कर रहा है। शहर की आबादी को देखते हुए उनके पुनर्वास की उचित योजना बनाने की आवश्यकता है।  फेरीवाले नागरिकों की सेवा कर रहे हैं। इस व्यवसाय पर अपनी आजीविका शुरू की है। इसलिए मनपा उनके व्यवसाय को नष्ट करने के लिए नहीं, बल्कि सभी को विश्वास में लेकर पुनर्वास की योजना बनाने का काम कर रहा है। कोई भी विक्रेता सड़क के बीचो-बीच, ऐसी जगह जहां यातायात बाधित हो या जहां नागरिकों को परेशानी हो, व्यापार नहीं करना चाहिए।  मनपा फेरीवालों के लिए जगह आवंटित करते हुए साफ-सफाई, पेयजल, रोशनी और बैठने की व्यवस्था करने की योजना बना रहा है। उत्पन्न कचरे के निपटान की सुविधा के लिए मनपा के साथ सहयोग करना चाहिए। आयुक्त राजेश पाटिल ने कहा कि, प्रशासन शहर में सब्जी मंडी, खाऊ गली और फूड मार्ट स्थापित करने की योजना बना रहा है। इससे पहले संस्थाओं के भरोसे सर्वे कराया जाएगा। इसमें जनप्रतिनिधियों और नागरिकों के सुझाव भी शामिल होंगे। मनपा ने रहने योग्य शहर के सूचकांक को बढ़ाने के लिए कदम उठाए हैं और इसमें नागरिकों की भूमिका महत्वपूर्ण है। इसलिए हॉकर नीति के क्रियान्वयन के लिए आयुक्त ने फेरीवाला समेत अन्य संगठनों से सहयोग करने की अपील की है।

 

 

 

MP Shrirang Barne | महिला किसानों के लिए बनें राष्ट्रीय महिला किसान आयोग

 

Pune News | बिजली की लुकाछिपी से त्रस्त निगड़ीवासियों के महावितरण पर हल्लाबोल

You might also like

Comments are closed.