Pune News | आगामी मनपा चुनाव के चलते नए वित्त वर्ष में कोई कर वृद्धि नहीं

पिंपरी : Pune News | पिंपरी चिंचवड़ (Pimpri Chinchwad) शहरवासियों को आगामी मनपा चुनाव (municipal elections) की पृष्ठभूमि पर बड़ी राहत मिली है। मनपा आयुक्त राजेश पाटिल (Rajesh Patil) ने आने वाले वित्तीय वर्ष 2022-23 में कोई टैक्स (Tax) नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। संपत्ति कर की दरें ‘जैसी हैं’ रखकर मनपा आयुक्त ने शहरवासियों को चुनावी साल का बड़ा तोहफा दिया है। इस संबंध (Pune News) में एक प्रस्ताव स्थायी समिति की बैठक (बुधवार) को होने वाली बैठक के समक्ष रखा गया है। मनपा चुनाव के कारण लगातार दूसरे वर्ष कर वृद्धि से बचा गया है।

 

 

मनपा के चुनाव (municipal elections) फरवरी 2022 में होने की उम्मीद है। चुनाव बस दो महीने दूर हैं, चुनाव की तैयारियां जोरों पर है और वार्डों का गठन अंतिम चरण में है। इसके चलते राजनीतिक घटनाक्रम बढ़ गया है। चुनावी साल शहर के लोगों के लिए एक बड़ी राहत भरा रहा है और आने वाले वित्तीय वर्ष में कोई कर वृद्धि या मूल्य वृद्धि नहीं होगी। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 20 फरवरी 2022 से पहले टैक्स की दरें तय करना जरूरी है।  तदनुसार, महाराष्ट्र मनपा अधिनियम (Maharashtra Municipal Act) की धारा 99 के तहत वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए कर की दरों को यथावत रखा गया है। चुनाव दिसंबर के अंत या जनवरी के पहले सप्ताह में होने की संभावना है। इसी पृष्ठभूमि में प्रशासन ने इस साल तीन महीने पहले कर की दरें तय करने का मुद्दा उठाया है।

 

पिंपरी-चिंचवड़ मनपा (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के पास फिलहाल 5 लाख 61 हजार संपत्तियां पंजीकृत हैं। इसमें वाणिज्यिक, आवासीय, समग्र संपत्तियां हैं। 1 से 12 हजार रुपये तक की आवासीय संपत्तियों के लिए मौजूदा कर योग्य मूल्य दरें 13 फीसदी, 12,000 रुपये से 30,000 रुपये के लिए 16 फीसदी और 30,000 रुपये और उससे अधिक के मूल्यांकन के लिए 24 फीसदी हैं। आगामी वित्तीय वर्ष में भी यही दरें बरकरार रखी गई हैं। इसके साथ ही सफाई कर, अग्नि कर, शिक्षा कर, वृक्ष कर, सीवेज सुविधा कर, जल आपूर्ति लाभ कर, सड़क कर जस का तस रखा गया है। मनोरंजन कर में कोई वृद्धि नहीं की गई। गैर-आवासीय करों को भी ‘जैसा है’ रखा गया है। सामान्य कर राहत योजनाओं को बनाए रखा गया है। इसके साथ ही संपत्ति की निकासी, ट्रांसफर नोटिस, प्रशासनिक सेवा, बकाया का भुगतान न करने का चार्ज वही रहेगा। बुधवार को स्थायी समिति की साप्ताहिक बैठक से पहले आयुक्त ने आगामी वित्तीय वर्ष 2022-2023 में सामान्य कर को यथावत रखने का प्रस्ताव दिया है। स्थायी समिति के निर्णय के बाद महासभा की स्वीकृति प्राप्त होगी।  यह फैसला अप्रैल से लागू होगा।

 

 

 

Pune News | देश के जीडीपी में बढ़े महिलाओं का योगदान: जगताप

 

Dhananjay Munde | सामाजिक न्यायमंत्री धनंजय मुंडे को ‘अशोकरत्न’ पुरस्कार घोषित

You might also like

Comments are closed.