Pune News | ‘गडकरी’ ने बताया क्यों पुणेकरों ने ‘फडणवीस’ के साथ की थी ‘उनकी’ भी आलोचना

पुणे – Pune News | पुणे के साथ मेरा पहले से ही घनिष्ठ संबंध है। महाराष्ट्र (maharashtra) के प्रतिनिधि के रूप में मेरा ध्यान विशेष रूप से पुणे (pune news) और नागपुर (nagpur) पर है। मैं दोनों जिलों की मदद के लिए लगातार प्रयास कर रहा हूं। पुणे मेट्रो (pune metro) पर काम शुरू नहीं हुआ है। नागपुर मेट्रो (nagpur metro) पर काम आगे बढ़ा। उस वक्त मेरी और फडणवीस (Devendra Fadnavis) की आलोचना हुई थी। पुणे में इस बात पर बहस हुई कि मेट्रो अंडर ग्राउंड (metro underground) की जाए या ऊपर से शुरू की जाए। आग्रह करने पर निर्णय लिया गया और मेट्रो पर काम शुरू हुआ। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा मैं इससे खुश हूं। आज वह पुणे में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।

गडकरी ने कहा कि मेट्रो की कीमत एक करोड़ रुपए है। ब्रॉड गेज मेट्रो पुणे-कोल्हापुर, सोलापुर, बारामती, लोनावला में चलेगी। दोनों बिजनेस क्लास प्लेन की तरह हैं। प्लेन में एयर होस्टेस भी होती हैं, यहां भी होगी। उनका टिकट एसटी टिकट जैसा है। इसकी रफ्तार भी 140 किमी प्रति घंटा है। इससे अब चंद्रकांत दादा साढ़े तीन घंटे में कोल्हापुर जा सकेंगे।

आगे उन्होंने कहा- जब मैं पुणे आया तो एक बात का दुःख हुआ।  बड़ी बहन पुणे में होने के कारण छुट्टी मिलने पर मैं पुणे आता हूं।  पर्वती घूमने जाता था तब खुली हवा मिलती थी लेकिन अब नहीं मिलती है।  पुणे में प्रदुषण (pollution) काफी बढ़ गया है। जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण से छुटकारा पाएं। भारत के सबसे प्रदूषित शहर के सूची में पुणे सबसे ऊपर है। गडकरी ने यह भी कहा कि अजीत दादा को पुणे को प्रदूषण से मुक्त करना चाहिए।

गडकरी ने कहा – सायरन और सलामी आकर्षण का विषय हैं। लेकिन, सायरन की आवाज कान छिदवाने जैसी लगती है। वह एक जर्मन वायलिन वादक थे। उनके पास एक रेडियो धुन थी। मैंने आदेश दिया कि धुन का हॉर्न बजाया जाए। पुणे से बेंगलुरु तक एक्सप्रेस-वे बनाया जाएगा। यह मार्ग फलटन से होकर गुजरता है। आप उस राजमार्ग पर एक नया पुणे शहर बना सकते है। यह मेट्रो और रेल से जुड़ा होगा। पुणे में ट्रैफिक जाम की समस्या है। इसलिए, अब बड़े शहर का विकेंद्रीकरण करना आवश्यक है।

Pune News | पुणे प्रदूषण में अग्रसर, अजीत दादा आप प्रदूषण से मुक्ति दे – गडकरी 

 

You might also like

Comments are closed.