Pune News | पिंपरी चिंचवड़ में 11 से बढ़ जाएगा नगरसेवकों का आंकड़ा

पिंपरी, संवाददाता Pune News | प्रदेश में तेजी से बढ़ती जनसंख्या के साथ-साथ शहरी विकास योजनाओं में तेजी लाने की आवश्यकता को देखते हुए राज्य मंत्रिपरिषद (State Council of Ministers) ने नगर निगमों और नगर परिषदों में निर्वाचित सदस्यों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके अनुसार पिंपरी चिंचवड़ मनपा (Pimpri Chinchwad Municipal Corporation) में पार्षदों की संख्या में 11 की वृद्धि होगी। वर्तमान में मनपा में 128 पार्षद हैं, इसमें 11 नगरसेवक (Corporator) और बढ़ने से उनकी संख्या 139 हो (Pune News) जाएगी।

 

वर्तमान में राज्य के मनपाओं में सदस्यों की संख्या न्यूनतम 65 सदस्य तथा अधिकतम 175 सदस्य हैं।  नगर परिषद में सदस्यों की संख्या न्यूनतम 17 सदस्य और अधिकतम 65 सदस्य हैं। महानगरों और छोटे शहरी क्षेत्रों में संरचनात्मक परिवर्तन और नागरिक मुद्दों और विकास योजनाओं को गति देने के लिए सभी कार्य क्षेत्रों को उचित न्याय देने के लिए सदस्यों की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। नगर निगमों (Municipal council) और नगर परिषदों (City Council) में सदस्यों की संख्या 2011 की जनगणना के आंकड़ों के आधार पर निर्धारित की जाती है। कोविड-19 के प्रकोप के कारण 2021 की जनगणना के परिणाम अधूरे हैं। इसमें कुछ और समय लगेगा। इस अवधि के दौरान जनसंख्या वृद्धि की औसत दर को ध्यान में रखते हुए, अधिनियम में उल्लिखित नगर निगमों और नगर परिषदों के सदस्यों की न्यूनतम संख्या में 17 प्रतिशत की वृद्धि करने का निर्णय लिया गया।
सदस्यों की न्यूनतम संख्या बढ़ाने से बाद के सदस्यों की संख्या में भी वृद्धि होगी और इस प्रकार सदस्यों की पर्याप्त संख्या सुनिश्चित होगी। 12 लाख से 24 लाख की आबादी के साथ निगम में पार्षदों की संख्या में 11 का इजाफा होगा। 2011 की जनगणना के अनुसार पिंपरी चिंचवड़  (Pimpri Chinchwad) शहर की जनसंख्या 17 लाख 27 हजार 692 है। जबकि, अब शहर की आबादी लगभग 25 लाख है।
इसलिए पिंपरी चिंचवड़ मनपा (Pimpri Chinchwad Municipal Corporation) में पार्षदों की संख्या 11 बढ़ जाएगी। इसलिए 128 पार्षदों की संख्या अब 139 हो जाएगी। राज्य सरकार के फैसले के अनुसार वार्ड की आबादी भी कम होने वाली है। अब यह 40 हजार था।  इसे पांच हजार से घटाकर 35 हजार किया जाएगा।

 

Pune News | भाजपा को घेरने के लिए विधायक अण्णा बनसोडे के नेतृत्व में राष्ट्रवादी व्यूहरचना