Pune News | दुबई की स्कूली छात्राओं ने कोंकण बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ

पुणे : Pune News | सात समुद्र के पार दुबई में रहने वाली रिवा तुळपुळे (16 वर्ष) और श्रुती चोरगे (उम्र 17) कोंकण में बाढ़ (konkan flood) से परेशान हैं। उन्हें इस बात का अहसास हुआ कि उन्हें अपनी मातृभूमि की मदद के लिए कुछ करना चाहिए। दोनों ने अब सोशल मीडिया (social media) पर बाढ़ पीड़ितों से मदद (Pune News) करने के लिए अपील की है। साथ ही कोंकण के लिए मदद की एक खेप भी भेजी।

दुबई में GEMS मॉडर्न एकेडमी में पढ़ रही रीवा ने मदद के लिए अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म WeCareDXB पर एक ऑनलाइन अभियान शुरू किया। श्रुति, श्रुतीसह मिरीयम शेख, रीम दलवाई, आयेशा सरगुरो और अन्य की मदद से अभियान लगभग एक हजार लोगों तक पहुंचा है। केवल पांच दिनों में तीन ट्रक आपूर्ति जमा हुए।

रीवा ने कहा- दोस्तों की मदद से हमने दुबई और शारजाह में पांच जगहों पर कलेक्शन सेंटर खोले।  पेशवा रेस्टोरेंट के मालिक सचिन जोशी, महाराष्ट्र मंडल, जीएमबीबीएफ ग्लोबल और सभी यात्रा करने वाले भारतीयों से हमें मदद मिली।

लड़कियों द्वारा शुरू की गई इस पहल ने जल्द ही एक आंदोलन का रूप ले लिया। ई-मूवर्स के मालिक चिरंतन जोशी ने सामग्री एकत्र करने के लिए आगे कदम बढ़ाया, जबकि जीआईआईएस स्कूल के निदेशक मोहन्ना केळकर ने सामग्री रखने के लिए स्कूल हॉल दिया। डेढ़ सौ बक्सों में जुटाई गई सहायता हाल ही में चिपलून और महाड़ पहुंची है। आगे वितरण जिला कलेक्टर कार्यालय मानगांव के सहयोग से किया जायेगा।

विमान से भेजी गई मदद
लड़कियों के इस समूह के लिए दुबई से सीधे कोंकण सहायता भेजना चुनौतीपूर्ण था। इसके लिए हेलमैन लॉजिस्टिक्स ने हर संभव मदद देने का वादा किया। फ्लाई दुबई ने सामान ढोने के लिए मदद का हाथ बढ़ाया। दुबई में भारत के वाणिज्य दूत अमन पुरी ने भी लड़कियों की मदद की। भारत में सहायता स्वीकार करने के लिए रेड क्रॉस इंडिया के साथ समन्वय स्थापित किया गया था।

रीवा ने कहा – पिता के मोबाइल पर दिख रहे वीडियो में चिपलून बाढ़ का भीषण दृश्य था। उन ढह गई दुनिया ने हमें मदद करने के लिए प्रेरित किया। दुबई में सभी स्तरों पर समुदाय ने भी आगे आकर समर्थन किया। उनकी उदारता की बदौलत हम दो टन माल कोंकण भेजने में सफल रहे।

You might also like

Comments are closed.