Pune News | किसान बिल रद्द किए जाने पर पिंपरी में जल्लोष

अब मजदूर विधेयकों के खिलाफ देशभर संघर्ष करने का ऐलान

पिंपरी : Pune News | केंद्र सरकार ने किसान विरोधी प्रस्तावित तीनों काले कानूनों को वापस लिए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने इसकी आधिकारिक घोषणा की। यह देशभर के किसानों और जनता की एकजुटता की सफलता है। अब मजदूर विरोधी कानून (Anti Labor Law) रद्द कर पुराने कानून ही लागू करने के लिए देशभर में संघर्ष शुरू किया जाएगा, यह
(Pune News) ऐलान वरिष्ठ मजदूर नेता एवं पिंपरी चिंचवड शहर कॉंग्रेस के अध्यक्ष डॉ. कैलाश कदम (Dr. Kailash Kadam) ने किया।
बीती शाम पिंपरी स्थित भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर स्मारक चौक में डॉ. कैलाश कदम के नेतृत्व में कॉंग्रेस, मजदूर संगठन संयुक्त कृति समिति (lobor union joint work committee) और विविध सामाजिक संस्था (social institution), संगठनों के नेताओं व पदाधिकारियों ने लड्डू बांटकर और पटाखों की आतिशबाजी कर जल्लोष मनाया। इस मौके पर वरिष्ठ नेता मानव कांबले, पूर्व नगरसेवक मारुती भापकर, युवक कॉंग्रेस के शहराध्यक्ष नरेंद्र बनसोडे, ओबीसी नेता प्रताप गुरव, महाराष्ट्र प्रदेश कॉंग्रेस कमिटी की पूर्व अध्यक्षा शामला सोनवणे, वरिष्ठ मजदूर नेता लता भिसे, युवक कॉंग्रेस के प्रदेश महासचिव उमेश खंदारे, एमआयएम के शहराध्यक्ष धम्मराज सालवे, हिराचंद जाधव, आबा खराडे, ज्ञानेश्वर मलशेट्टी, विशाल जाधव, के. हरी नारायनन, दिलीप पवार, किशोर ढोकले, निरज कडू, काशीनाथ नखाते, छाया देसले, विश्वास जगताप, जेवियर ॲथोंनी आदि उपस्थित थे।

 

इस समय डॉ. कैलाश कदम ने कहा कि, दिल्ली में पिछले 11 महीने से चल रहा किसान आंदोलन (Farmers Movment) शुक्रवार को सफल हो गयाम प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह 9 बजे घोषणा की कि हम तीनों प्रस्तावित किसान कानूनों (Farmers law) को वापस ले रहे हैं। इस माह होने वाले संसदीय सत्र में इस संबंध में सभी कानूनी प्रक्रियाएं पूरी कर ली जाएंगी। यह उपलब्धि पिछले 11 महीनों से इन कानूनों के खिलाफ देश भर के किसानों और श्रमिकों के आंदोलन का परिणाम है।  समय-समय पर, कांग्रेस सहित अन्य सहयोगी दल, और इंटैक सहित अन्य ट्रेड यूनियन, बलिराजा के समर्थन में सड़कों पर उतरे। पिंपरी चिंचवड़ (Pimpri Chinchwad) शहर में भी ट्रेड यूनियन संयुक्त कार्रवाई समिति और विभिन्न किसान संघों की ओर से पुणे-नासिक राजमार्ग (Pune-Nashik Highway) पर मोशी में रास्ता रोक्को आंदोलन (stop way movement) कर केंद्र सरकार का विरोध किया गया। इसी तरह का आंदोलन शहर में भी किया गया। समय-समय पर आंदोलन में भाग लेने के लिए सभी सांसदों, विधायकों, नगरसेवकों, पूर्व नगरसेवकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ-साथ संगठनों और संघों के पदाधिकारियों को बधाई देते हुए कदम ने सभी का आभार जताया।

 

 

 

Pune News | पिंपरी चिंचवड़ में कुत्तों की नसबंदी का घोटाला !

 

Pune News | पिंपरी चिंचवड़ मनपा आयुक्त पर फिर भड़का सभागृह

You might also like

Comments are closed.