Pune News | एएफसी विमेंस एशियन कप इंडिया 2022™ (ग्रुप-सी): दक्षिण कोरिया के खिलाफ अंक बांटकर टॉप पर रहा जापान

पुणे, संवाददाता। Pune News | जापान (Japan) ने गुरुवार को यहां श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स काम्पलेक्स (Shree Shiv Chhatrapati Sports Complex) में दक्षिण कोरिया (South Korea) के साथ 1-1 से बराबरी का मुकाबला खेलते हुए एएफसी विमेंस एशियन कप इंडिया 2022™ (AFC Women’s Asian Cup India 2022™) के ग्रुप-सी (Group-C) में पहला स्थान हासिल (Pune News) किया।
जापान ने पहले ही मिनट में फारवर्ड रीको यूकी (Forward Riko Yuki) द्वारा किए गए गोल की मदद से लीड ले ली थी और उसे मैच के अंतिम समय तक कायम रखते हुए लगातार तीसरी जीत की ओर अग्रसर था लेकिन सोन ह्वा योन (Son Hwa Yeon) के स्थान पर 82वें मिनट में मैदान पर आईं सब्सीट्यूट सियो जी योन (Substitute Seo Ji Yeon) ने 85वें मिनट में गोल करते हुए उसे अंक बांटने पर मजबूर कर दिया।

 

 

ग्रुप-सी में दोनों टीमों ने दो-दो मैच जीते और एक-एक ड्रा के साथ सात-सात अंक अपने खाते में डालने में सफल रहीं लेकिन बेहतर गोल अंतर के कारण जापान इस ग्रुप का लीडर बनकर सामने आया। गुरुवार को ही इसी ग्रुप से वियतनाम (Vietnam) और म्यांमार (Myanmar) ने भी ड्रा खेला।
फुतोशी इकेदा (Futoshi Ikeda) की टीम को इससे बेहतर शुरुआत की उम्मीद नहीं थी। खेल शुरू हुए अभी चंद सेकेंड हुए थे कि यूकी (Yuki) ने कोरियाई डिफेंस (Korean Defense) को भेदकर अपनी टीम को पहली सफलता दिला दी।
शियोरी मियाके (Shiori Miyake) से मिले सटीक पास के बाद युकी और कोरियाई गोलकीपर किम जुंग (Korean goalkeeper Kim Jung) मी आमने-सामने थीं। युकी ने बिना गलती किए गेंद को पोस्ट में डाल दिया और इस दौरान जुंग अधिक प्रतिरोध नहीं कर सकीं।
इस चैंपियन टीम की यह बेहतरीन शुरुआत थी। हाफ टाइम से पहले इसे और गोल कर लेने चाहिए थे लेकिन कोरियाई गोलकीपर ने दो मौकों पर शानदार बचाव करते हुए इसकी सम्भावना खत्म कर दी।

 

हाफ टाइम के बाद हासेगावा (Hasegawa) ने कोरियाई डिफेंस की जमकर परीक्षा ली लेकिन बावजूद इसके वह काफी करीब आकर भी गोल नहीं कर सकीं। इस दौरान कोरियाई आक्रमण पंक्ति कुछ खास कारनामे नहीं कर सका।
पांचवें मिनट में हालांकि चू ह्यो जू को गोल करने का मौका मिला था लेकिन वह जापानी गोलकीपर अयाका यामाशीता (Japanese goalkeeper Ayaka Yamashita) को छका नहीं सकीं। साथ ही चो सो ह्यून (Cho So Hyun) का इंजुरी टाइम (Injury Time) में लिया गया हेडर क्रॉसबार (Header Crossbar) के ऊपर से निकल गया।
एक घंटे के दौरान मोएका मिनामी (Moeca Minami) जापान के लिए दूसरा गोल करने के करीब थीं लेकिन वह गेंद को बार के ऊपर मार बैठीं। खेल खत्म होने में पांच मिनट बचे थे और ऐसा लग रहा था कि जापान जीत की हैट्रिक पूरी कर लेगा लेकिन इसी बीच सियो ने फाइनल टच के साथ अपना पहला इंटरनेशनल गोल (International Goal) किया और मुकाबले को बराबरी पर लाकर खड़ा (Pune News) कर दिया।

 

 

You might also like

Comments are closed.