Pune Municipal Corporation (PMC) | पुणे महानगरपालिका: चर्चित मुला-मुठा नदी सुधार योजना के टेंडर को जायका और केंद्र की मान्यता

पुणे: Pune Municipal Corporation (PMC) | जाइका कंपनी (jica company) के सहयोग से चलाए जानेवाले बहुचर्चित मुला-मुठा नदी सुधार योजना (Mula-Mutha Riverfront development project) के टेंडर को जाइका कंपनी के साथ ही केंद्र (central government) ने ग्रीन सिग्नल दे दिया है। इसलिए जल्द ही नदी सुधार योजना (pune river rijuvenation project) के टेंडर को मान्यता के लिए स्थायी समिति (Pune Municipal Corporation (PMC) ) के सामने रखकर जल्द से जल्द काम का शुभारंभ किया जाएगा, ऐसी जानकारी महापौर मुरलीधर मोहोल (Murlidhar Mohol) ने दी है।

केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय नदी संवर्धन संचालनायल, जापानी इंटरनेशनल को-ऑपरेशन एजेंसी व पुणे मनपा के साथ करार किया है। केंद्र सरकार ने इस परियोजना के लिए 990.26 करोड़ निधि को मान्यता दी है। इसमें केंद्र का 85 % अर्थात 841.72 करोड़, मनपा का 15 % अर्थात 148.54 करोड़ रुपये की हिस्सेदारी रहेगी।

 इस परियोजना में 3 पैकेजेस मुख्य नाला डालना व 6 पैकेज में 11 सिवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाना शामिल है। पैकेज एक के अंतर्गत किए जा रहे ड्रेनेज का काम पूरा हो चुका है। वहीं मैला पानी शुद्धीकरण केंद्र बनाने के पैकेज चार का टेंडर ज्यादा रेट का होने के कारण रद्द किया गया था।

परियोजना का पुनर्रचना करने के लिए पुणे मनपा ने अगस्त 2020 में जायका कंपनी को प्रस्ताव पेश किया था। इस प्रस्ताव को जाइका कंपनी ने सितंबर 2020 में मान्यता दी थी। इसके अनुसार टेंडर विज्ञापन जारी किया गया था। इसमें 11 मैला पानी शुद्धिकरण केंद्र बनाना व ड्रेनेज डालने का काम शामिल था। साथ ही मैलापानी शुद्धिकरण केंद्र देखभाल व मरम्मत का समय 15 साल निश्चित किया गया था।

इस परियोजना के काम के लिए 6 टेंडर मिले हैं। प्राप्त टेंडर का सलाहकार के माध्यम से छानबीन किया गया। इसकी रिपोर्ट जाइका कंपनी को मान्यता के लिए भेजा गया था। सलाहकार ने तीन टेंडर भेजा था।  इसके अनुसार एनवायरो कंट्रोल व तोशिबा वॉटर सॉल्यूशन- जेवी, इन दो टेंडर अंतिम छानबीन में योग्य साबित हुआ है।

You might also like

Comments are closed.