Pune | पद्मावती स्व. काकासाहेब गाडगिल उद्यान के तालाब में मरी मछलियों की वजह से बदबू

पद्मावती स्वर्गीय काकासाहेब गाडगिल उद्यान

पुणे (Pune News) : पद्मावती स्वर्गीय काकासाहेब गाडगिल उद्यान (Padmavati Late Kakasaheb Gadgil Udyan) के तालाब का फव्वारा कई दिनों से बंद है और तालाब की मछलियां (Pune) मरने के कारण बदबू फैल रहा है और पानी के ऊपर मरी हुई मछलियां (Dead Fish) तैर रही हैं। अभी पार्क (Park) खुलने के कारण महिला, वरिष्ठ नागरिक सहित 10 वर्ष के ऊपर के बच्चे घूमने (Pune) के लिए आते हैं।

हालांकि, फव्वारा बंद होने और अशुद्ध पानी के कारण हैं।तालाब से बदबू आने की शिकायत लोगों ने की। इसलिए नागरिक मांग कर रहे हैं कि पार्क के तालाब के पानी को साफ किया जाए और फव्वारा चालू किया जाए। इस मौके पर भानुदास ढोबले (Bhanudas Dhoble) (इंदिरा सोसायटी पद्मावती) ने कहा, ”पद्मावती स्वर्गीय काकासाहेब गाडगिल पार्क में सैर के लिए जा रहे हैं लेकिन तालाब (Pond) के पानी से दो दिन से बदबू आ रही है। इसलिए वरिष्ठ नागरिक के स्वास्थ्य का सवाल होने के कारण तालाब का पानी स्वच्छ कराएं और पार्क की उचित देखभाल करें।

इस बारे में सरजीराव काले (Sarjirao Kale) (पार्क निरीक्षक) ने कहा, ” स्वर्गीय काकासाहेब गाडगिल पार्क पद्मावती के तालाब में मछलियों की मौत के कारण दुर्गंध आ रही है। कोरोना काल में पार्क को बंद कर दिया गया था। दो दिन से फव्वारा चालू किया है। इसके बाद नियमित रूप से फव्वारा चालू किया जाएगा।

पार्क सुबह 6 से 9 बजे तक और शाम को 4 से 7 बजे तक खुला रहता है और नागरिक घूमने के लिए आ रहे हैं। 10 साल से बड़े बच्चों को प्रवेश दिया जा रहा है। मनपा के मत्स्य प्रमुख अभय कौलगुड ने कहा, “स्व. काकासाहेब गाडगिल पार्क में तालाब में ऑक्सीजन की कमी के कारण मछलियां मर रही हैं। फव्वारा चालू होने पर पानी साफ रहता है और मछलियों को पानी से ऑक्सीजन मिलती है। इसलिए फव्वारा चालू करने का सुझाव दिया गया है।

 

 

Pune Crime | पुणे के चाकण में शिवसेना नगरसेवक से मांगा 15 लाख का हफ्ता ! पूर्व उपसरपंच, पत्रकार व 4 महिला कार्यकर्ता सहित 9 लोगों पर FIR, रिपोर्टर सहित दो गिरफ्तार

You might also like

Comments are closed.