Pune Crime | दिन में बंद घरों की करते थे रेकी, रात में करते थे सेंधमारी; क्राइम ब्रांच दवारा दो सगे भाई गिरफ्तार 

पिंपरी (Pimpri News), 23 सितंबर : Pune Crime | दिन में ताला लगे घर की रेकी कर रात के वक़्त सेंधमारी (Burglary) करने वाले दो सगे भाइयों को क्राइम ब्रांच पुलिस (Crime Branch Police) ने गिरफ्तार (Arrest) किया है।  इस गैंग के चार आरोपी फरार है।  आरोपियों से गहने खरीदने वाले एक सोनार को भी गिरफ्तार किया गया है।  आरोपियों से 220 ग्राम सोने का गहना, दो बाइक, गैस सिलेंडर, होम थियेटर, बैटरी, कूलर, मोबाइल और अन्य सामान सहित 18 लाख 30 हज़ार रुपए का माल जब्त (Pune Crime) किया गया है।

गिरफ्तार आरोपियों का नाम साहिल रमेश नानावत (Sahil Ramesh Nanawat) उर्फ़ अल्लू अर्जुन (25 ), देवीदास उर्फ़ दास रमेश नानावत (Das Ramesh Nanawat) (23 ) और योगेश नूर सिंह (Yogesh Noor Singh) (34)  है।


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पिंपरी चिंचवड़ आयुक्तालय (Pimpri Chinchwad Commissionerate) की सीमा में सेंधमारी के मामले की जांच के दौरान क्राइम ब्रांच यूनिट चार (Crime Branch Unit Four) की पुलिस ने सेंधमारी स्थल का सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) और  अन्य तकनीकी जानकारी जुटाकर मामले की जांच कर रही थी। इस जांच में छह लोगों के गैंग दवारा सेंधमारी की घटना को अंजाम दिए जाने की जानकारी सामने आई।

इसमें दो सगे  चोर भाई भी शामिल है।  इन  दोनों भाई के दौंड तालुका के भांडगांव के अपने रिश्तेदार के घर में छिपे होने की जानकारी पुलिस (Police) को मिली थी। इसके आधार पर पुलिस ने जाल बिछाकर साहिल और देवीदास को गिरफ्तार कर लिया।  इस अपराध को लेकर उनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि पिछले तीन साल में अपने चार साथियों  के साथ मिलकर पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्तालय (Pimpri-Chinchwad Police Commissionerate) और पुणे ग्रामीण पुलिस स्टेशन (Pune Rural Police Station) की सीमा में कई जगहों पर सेंधमारी की है।


बंद घरों के ताले तोड़कर, दुकानों के शटर उठाकर चोरी की घटना को अंजाम देते थे। चोरी का माल एक सोनार को बेचते थे।  उस सोनार को भी पुलिस ने गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है। मामले की जांच चल रही है।

 

Pune Police | पुणे पुलिस ने हफ्ताखोरों को किया गिरफ्तार, बिल्डर और उद्योगपति से मांगा था हफ्ता

You might also like

Comments are closed.