Pune Crime | घुसखोरी मामले में दो पुलिस अधिकारी सस्पेंड

एसीबी के ट्रैप के बाद पिंपरी चिंचवड़ पुलिस आयुक्त की कार्रवाई

पिंपरी : Pune Crime | घूसखोरी के मामले में पिंपरी चिंचवड़ पुलिस (Pimpri Chinchwad Police) की महिला उपनिरीक्षक समेत दो अधिकारियों को सस्पेंड (Suspend) कर दिया गया है। शिकायत अर्जी के अनुसार मामला दर्ज न करने के लिए 1 लाख रुपए की मांग करते हुए 70 हजार रुपए की घूस लेने के मामले में एसीबी पुणे (Anti Corruption Bureau Pune) ने पिंपरी चिंचवड़ की सांगवी पुलिस थाने (Sangvi Police Station) की महिला उपनिरीक्षक को गिरफ्तार (Arrest) किया। इस कार्रवाई के दौरान एक सहायक फौजदार एसीबी की टीम के साथ धक्कामुक्की कर मोटरसाइकिल पर सवार (Pune Crime) होकर भाग निकला है।

 

हेमा सिध्दराम सोलुंके (Hema Siddaram Solunke) (28) और अशोक बालकृष्ण देसाई (Ashok Balkrishna Desai) ऐसे सस्पेंड किये गए पुलिस (Police) अधिकारियों के नाम हैं। सोलुंके पुलिस उपनिरीक्षक और देसाई सहायक फौजदार के तौर पर सांगवी पुलिस थाने (Sangvi Police Station) में तैनात हैं। उन दोनों के खिलाफ सांगवी पुलिस थाने में भ्रष्टाचार प्रतिबंध कानून (corruption ban law) के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस बारे में एक 42 वर्षीय शिकायतकर्ता ने एसीबी के पास शिकायत दर्ज कराई है। इसके बाद पिंपरी चिंचवड़ पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश (Krishna Prakash) के आदेशानुसार दोनों अधिकारियों को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया है।

 

गौरतलब है कि पुलिस उपनिरीक्षक हेमा सोलुंके के पास शिकायतकर्ता के खिलाफ एक शिकायत अर्जी की छानबीन थी। इसकी जांच कर उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज न करने के लिए उससे एक लाख रुपए की घूस मांगी गई थी, जो बाद में 70 हजार रुपए तय की गई। इस शिकायत की पुष्टि करने के बाद गुरुवार की शाम जाल बिछाया गया। यहां सहायक फौजदार अशोक देसाई को पैसे लेते हुए पकड़ने के दौरान वह एसीबी की टीम को धक्का देकर मौके से भाग निकला। उसने ये डील पुलिस उपनिरीक्षक सोलुंके के कहने पर की थी, यह साबित होने से एसीबी (Anti Corruption Bureau Pune) ने उसे हिरासत में ले लिया।

 

 

 

 

ACP Shridhar Jadhav | गैंगस्टर गजा मारणे का ‘जुलूस’ निकालनेवाले एसीपी श्रीधर जाधव रिटायर

 

Pune News | तीन माह से काम ठप्प रहने से मेट्रो को रोजाना 6 लाख का नुकसान

 

Pune News | सत्तादल भाजपा की जलापूर्ति संबन्धी कमिटमेंट फेल

You might also like

Comments are closed.