Pune Crime | चरस तस्करी का आरोपी गोवा के होटल से हथकड़ी के साथ फरार ; पुणे ग्रामीण पुलिस ने सर्च मुहीम शुरू की 

पुणे (Pune News) : Pune Crime | चरस तस्करी  मामले में पुणे ग्रामीण पुलिस (Pune Rural Police) के राजगढ़ पुलिस (Rajgarh Police) ने एक आरोपी को खेड़ शिवापुर टोल नाका (Khed Shivapur Toll Naka) से  गिरफ्तार (Arrest) किया था। गिरफ्तार आरोपी का नाम  मुस्ताकी रजाक धुनिया (Mustaki Razak Dhuniya) (उम्र 30, नि – नेपाल ) है।  उससे पूछताछ के लिए गोवा ले जा रहे थे तभी पुलिस के कब्जे से उसके सोमवार को भाग जाने की जानकारी सामने आई ।   ग्रामीण पुलिस के अधिकारियों ने इस खबर की पुष्टि की है। अब   गोवा में आरोपी (Pune Crime) की तलाश की जा रही है।

 

8 अक्टूबर को पुणे (Pune) के मुंबई-बंगलुर हाईवे (Mumbai-Bangalore Highway) पर राजगढ़ पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 6 किलो चरस जब्त किया था।  आरोपी (Criminal) ने यह चरस अपने बैग में छिपा रखा था।   राजगढ़ पुलिस (Rajgarh Police) ने छह किलो चरस की कीमत 32  लाख रुपए बताई है।  जबकि इंटरनेशनल मार्केट (International Market.) में इसकी कीमत साढ़े 3 करोड़ से अधिक है।

 

आरोपी मुस्ताकी को कोर्ट (Court) में पेश किया गया था।  उसके नेपाल से होने की वजह से इंटरनेशनल लेवल पर नशीले पदार्थों (Narcotics) की तस्करी की जांच की जा रही है।  इसलिए उसकी पुलिस कस्टडी (Police Custody) देने की मांग सहायक सरकारी वकील विशाल मुरलीकर (Assistant Public Prosecutor Vishal Murlikar) ने की।  इसके अनुसार आगे की पूछताछ के लिए उसे राजगढ़ पुलिस व पुणे क्राइम ब्रांच (Pune Crime Branch) ने सयुक्त रूप से पूछताछ के लिए उसे गोवा (Goa) ले गई थी।
रविवार की सुबह म्हापसा से लेकर गए।  यहां के निजी होटल में आरोपी मुस्ताकी को रखा गया था।  यहां पर राजगढ़ के पुलिस सब इंस्पेक्टर मनोजकुमार नवसरे (Police Sub Inspector Manojkumar Navsare), हवलदार महेश खरात (Havildar Mahesh Kharat), संतोष तोड़कर (Santosh Todkar), शरद धेंडे (Sharad Dhende) जबकि पुणे क्राइम ब्रांच के पुलिस सब इंस्पेक्टर अमोल गोरे (Pune Crime Branch Police Sub Inspector Amol Gore), मंगेश भगत (Mangesh Bhagat), अमोल शेडगे (Amol Shedge), पूनम गुंड (Poonam Gund) का बंदोबस्त था।
राजगढ़ पुलिस और पुणे क्राइम ब्रांच के अधिकारी व पुलिसकर्मी जब सो रहे थे सोमवार की सुबह आरोपी मुस्ताकी हथकड़ी के साथ फरार हो गया।  इसके कारण पुलिस के काम करने के तरीके पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे है।
गोवा का चरस रैकेट मुंबई, बिहार के पटना व नेपाल तक फैला है।  इस मामले की आगे की जांच कैसे की जाएगी इसे लेकर आशंका जताई जा रही है।  पुलिस ने म्हापसा पुलिस स्टेशन (Mhapsa Police Station) में आरोपी के फरार होने की शिकायत दर्ज कराई है।

 

 

 

Pune Crime | पुणे के भोर में बदन पर लगे हल्दी का रंग उतरने से पहले दुल्हन ने दिखाया अपना असली चेहरा ; दो दिनों में किया भयानक कांड; जाने मामला

You might also like

Comments are closed.