Pune Crime | ‘गेम किए बिना चप्पल न पहने की कसम!’ पुणे के डुक्कर खिंड में बिल्डर पर फायरिंग  करनेवाले को करमाला से किया गया गिरफ्तार

पुणे (Pune News) : सहयोगी की हत्या (Murder) का बदला लिए बिना पैर में चप्पल न पहने की कसम लेकर बिल्डर पर गोलीबारी (Firing) कर हत्या (Pune Crime) की कोशिश करनेवाले फरार आरोपी को एंटी एक्सटॉर्शन सेल (Anti Extortion Cell) ने सोलापुर (Solapur) जिले के करमाला से गिरफ्तार (Arrest) किया है (Pune Crime)।

 

चेतन चंद्रकांत पवार (Chetan Chandrakant Pawar) (उम्र 27, नि. मेगा सिटी, एसएनडीटी कॉलेज के पास, कर्वे रोड) आरोपी का नाम है।

 

फिरती विरोधी दस्ते के पुलिस अंमलदार राजेंद्र लांडगे (Police Amaldar Rajendra Landge), विवेक जाधव (Vivek Jadhav) को निर्माण व्यवसायी पर गोलीबारी कर फरार हुए चेतन पवार को करमाला (Karmala) में होने की जानकारी मिली। इसके अनुसार पुलिस टीम करमाला के लिए रवाना हुई। पांडे गांव में जाल बिछाकर चेतन पवार को पकड़ा गया। आगे की जांच के लिए उसे वारजे पुलिस (Warje Police) कि सौंप दिया गया है।

 

चेतन पवार के खिलाफ हत्या की कोशिश, हथियार रखने का मामला दर्ज किया गया है। क्राइम ब्रांच के आयुक्त रामनाथ पाकले (Crime Branch Commissioner Ramnath Pakle), उपायुक्त श्रीनिवास घाडगे (Deputy Commissioner Srinivas Ghadge) के मार्गदर्शन में फिरौती विरोधी दस्ते के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विनायक वेताल (Senior Police Inspector Vinayak Vetal) के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक संदीप बुवा (Assistant Police Inspector Sandeep Buva), पुलिस अंमलदार नितीन कांबले (Police Commissioner Nitin Kamble), राजेंद्र लांडगे (Rajendra Landge), विवेक जाधव (Vivek Jadhav), नितीन रावल (Nitin Rawal) ने यह कार्रवाई की। निर्माण व्यवसायी रवींद्र सखाराम तांगुदे (Ravindra Sakharam Tangude) (उम्र 36) पर चारों ने डुक्कर खिंड में जून में गोलीबारी की थी। इस हमले में तांगुदे बाल-बाल बच गए।

 

इसमें संदिग्ध आरोपी अभिजीत येलवंडे (उम्र 24) को गिरफ्तार (Arrest) किया है। उसके साथी नकुल खाडे, चेतन पवार, उमेश चिकणे फरार थे। तांगुदे व उसके साथी ने आरोपी के मित्र दीपक सोनवणे की 2013 में हत्या की थी। इस हत्या मामले (Murder Case) में रवींद्र तांगुदे जमानत पर छूटे हैं। दीपक की हत्या के बाद नकुल खाडे ने कसम खाई थी कि हत्या का बदला लिए बिना चप्पल नहीं पहनेंगे। तब से आरोपी रवींद्र के पीछे लगे थे। जमानत पर छूटे रवींद्र का गेम करने की कोशिश थी।

 

Pune Crime | पुणे में भाईगिरी! हफ्ता देने से मना करने पर पान दुकानदार की हत्या की कोशिश

You might also like

Comments are closed.