Pune Crime | 50 लाख का रंगदारी मामला! सुधीर रामचंद्र आल्हाट को पुणे क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार; सूचना अधिकार कार्यकर्ता सहित सुभाष उर्फ अण्णा जेऊर, निलेश जगताप, विवेक कोंडे के खिलाफ FIR

पुणे : Pune Crime | लेटरहेड पर डेक्कन थाने के तत्कालीन पुलिस निरीक्षक के खिलाफ की गई शिकायत को वापस लेने के लिए शिकायतकर्ता महिला से 50 लाख की फिरौती मांगने के मामले में पुणे पुलिस के क्राइम ब्रांच (Crime Branch of Pune Police) ने सूचना अधिकार कार्यकर्ता सुधीर रामचंद्र अल्हाट (Sudhir Ramchandra Alhat) को बुधवार रात गिरफ्तार (arrest) किया है। इसके साथ ही सुभाष उर्फ अण्णा जेऊर (Subhash aka Anna Jeur) , निलेश जगताप (Nilesh Jagtap) विवेक कोंडे (Vivek Konde) के खिलाफ शिवाजी नगर पुलिस थाने (Shivaji Nagar Police Station) में फिरौती के अपराध (Pune Crime) का एफआईआर दर्ज किया है।

इस संदर्भ में कोथरूड इलाके की एक 48 वर्षीय महिला ने शिवाजी नगर पुलिस थाने में शिकायत दी है। पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता महिला के पति पर 2019 और 2020 में डेक्कन पुलिस थाने में गलत तरीके से दर्ज शिकायत को लेकर महिला ने सुधीर आल्हाट से संपर्क किया था। उस समय आल्हाट ने डेक्कन पुलिस थाने के तत्कालीन पुलिस उपनिरीक्षक सोनवणे के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के बाद तुम्हें परेशान किया तो 8 दिन में पैसे निकालकर देता हूँ, ऐसा कहा। मेरा पुलिस विभाग में बड़े पद पर आसीन साथ ही अति वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से पहचान है। मैंने अब तक 32 अधिकारी को निलंबित करवाया है। शिकायतकर्ता महिला को उपनिरीक्षक सोनवणे के खिलाफ सुधीर रामचंद्र आल्हाट ने लेटर पर आवेदन करने को कहा।

उसके बाद आल्हाट ने शिकायतकर्ता महिला को घर बुलाकर सोनवणे आवेदन मामले में 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी। मुझे पैसे दिए तभी तुम सोनवणे व पालवे के खिलाफ की गई शिकायत वापस ले सकती हो, ऐसा कहा। मेरे कहे अनुसार नहीं चली तो तुम्हें भी लटका दूंगा, ऐसी धमकी दी। अन्य आरोपियों ने भी शिकायतकर्ता महिला पर दबाव डाला, ऐसा शिकायत में कहा गया है। फिरौती मांगने की घटना सामने आने के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है। आल्हाट को पुणे पुलिस के क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। इस मामले की आगे की जांच क्राइम ब्रांच के युनिट 3 के पुलिस उपनिरीक्षक दत्तात्रय काले कर रहे हैं।

सुधीर रामचंद्र आल्हाट ने शिकायतकर्ता महिला को अब तक 32 अधिकारियों को निलंबित करने की बात कही। वरिष्ठ अधिकारी से पहचान होने की बात कहतेहुए 50 लाख की फिरौती मांगने के मामले में सूचना अधिकार कार्यकर्ता  की गिरफ्तारी के बाद खलबली मची है। यह जानकरी भी सामने आ रही है कि आल्हाट बड़ी राजनीतिक पार्टी का पदाधिकारी है। वह किस-किस अधिकारी का नाम ले रहा था, यह जांच में सामने आना बाकी है।

Maharashtra Winter Session | राष्ट्रपुरुषों की सूची में छत्रपति संभाजी महाराज का समावेश हो

Pune Crime | शॉकिंग : खाना अच्छा नहीं बना इसलिए पति ने पीठ पर काटा; पत्नी ने पुलिस से की शिकायत

Dr. Sulakshana Shilwant-Dhar | राष्ट्रवादी की नगरसेविका डॉ. सुलक्षणा शिलवंत- धर को मिली राहत

 

You might also like

Comments are closed.