Pune Crime | गारवा होटल मालिक के हत्या की गुत्थी सुलझी

व्यावसायिक स्पर्धा में हुई वारदात; होटल मालिक समेत 8 गिरफ्तार
पुणे, संवाददाता। (Pune Crime) खूनी हमले में गंभीर रूप से घायल पुणे (Pune) के उरूली कांचन में मशहूर ‘गारवा होटल’ (Garwa Hotel) के मालिक की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत (Pune Crime) हो गई। रामदास रघुनाथ आखाडे (38, निवासी जावजी बुवाची वाड़ी, दौंड, पुणे) ऐसा मृतक का नाम है। रविवार की रात उन पर एक नकाबपोश ने तेजधार हथियार से जानलेवा हमला (attack) किये जाने की घटना से सनसनी फैल गई है। लोणी कालभोर पुलिस ने हत्या (murder) की इस गुत्थी को सुलझाने में सफलता प्राप्त की है। यह हत्या व्यावसायिक स्पर्धा में हुई है। इस मामले में पुलिस ने एक होटल मालिक समेत 8 लोगों को गिरफ्तार (arrest) किया है।
लोणी कालभोर थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र मोकाशी ने बताया, गिरफ्तार आरोपियों में बालासाहेब जयवंत खेडेकर (56), निखिल बालासाहेब खेडेकर (24), सौरभ ऊर्फ चिम्या कैलास चौधरी (21), अक्षय अविनाश दाभाडे (27) करण विजय खडसे (21), प्रथमेश राजेंद्र कोलते (23), गणेश मधुकर साने (20) और निखिल मंगेश चौधरी (20, सभी निवासी हवेली, पुणे) का समावेश है। इस मामले में संतोष आखाडे (47) ने शिकायत दर्ज कराई है।
बालासाहेब और उसके पुत्र निखिल का आखाड़े के गारवा होटल के बगल में अशोक नाम से होटल है। गारवा की तुलना में उनका होटल कम चलता है। जहां गारवा की रोज की आय दो-ढाई लाख थी वहां अशोक होटल की कमाई 50 से 60 हजार रुपये थी। इसलिए उसने रामदास आखाड़े को रास्ते से हटाने की साजिश रची, ऐसा जांच में सामने आया है।
उरुली कांचन में पुणे- सोलापुर हाइवे पर आखाड़े का गारवा होटल है जो यह वेज-नॉनवेज भोजन के लिए मशहूर है। इसके मालिक रामदास आखाडे बीते रविवार की रात 8.30 से 8:45 बजे के बीच होटल के बाहर एक कुर्सी पर बैठकर फ़ोन पर किसी से बात कर रहे थे। तभी एक नकाबपोश लड़का पैदल चलकर उनके पास आया और बिना उन्हें संभलने का कोई मौका देते हए अपने कपड़े में छिपाकर लाया हुआ कोयते को निकालकर उन पर एक के बाद एक वार करने लगा। हमले से रामदास बुरी तरह घायल होकर नीचे गिर गए, इसके बाद हमलावर वहां से भाग निकला।
घायलावस्था में रामदास को इलाज के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया। यहां इलाज के दौरान मंगलवार की रात उन्होंने दम तोड़ दिया। यह पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है। इस मामले में उपरोक्त आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।बालासाहेब ने अपने भांजे सौरभ चौधरी को आखाड़े की हत्या करने पर उसे रोजाना दो हजार रुपए तक देने की सुपारी दी। इसके अनुसार चौधरी ने अपने साथी नीलेश आरते और उसके साथियों की मदद से हत्या की निर्मम हत्या की।
You might also like

Comments are closed.