Pune Crime | पुलिस आयुक्तालय के बड़े अधिकारी के नाम पर आरटीआई कार्यकर्ता से हफ्ता देने की मांग ; दो तथाकथित पत्रकार गिरफ्तार 

पुणे (Pune News), 30 जुलाई : पुलिस आयुक्तालय (Police Commissionerate) के बड़े अधिकारी दवारा अपराध में फंसाने (Pune Crime) और  जान को खतरा होने की धमकी देकर सुचना का अधिकार कार्यकर्ता से दो लाख रुपए का हफ्ता मांगा गया (Pune Crime)।  इसके बाद 75 हज़ार रुपए लेने के बाद भी सवा लाख रुपए के लिए बार-बार धमकी (Threat) दी  जा रही थी। इस मामले में दो तथाकथित पत्रकार के खिलाफ शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन (Shivaji Nagar Police Station) में  एक्सटॉर्शन का केस (extortion case) दर्ज किया गया है।

 

इस मामले में सुधीर रामचंद्र आलाट (Sudhir Ramchandra Aalat) (उम्र 51 वर्ष, नि – नरवीर तानाजी वाड़ी, शिवाजी नगर) ने शिकायत दर्ज कराई है। इस मामले में तथाकथित पत्रकार राहुल कांबले (Rahul Kamble) और जहीर मेमन ( Zaheer Memon) को पुलिस ने गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आलाट  भारतीय जनता पार्टी, शिवाजी नगर निर्वाचन क्षेत्र (Shivaji Nagar Constituency) के पूर्व अध्यक्ष है। वह भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन (anti corruption movement) में सक्रिय रूप से शामिल रहे है।  वे सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों, राजनीतिक नेताओं के भ्रष्टाचार की शिकायत प्रधानमंत्री, सीबीआई, ईडी, मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, पुलिस महासंचालक, एसीबी, पुणे पुलिस कमिश्नर, पुणे मनपा आयुक्त से शिकायत करते रहे है।  आलाट  से जानकारी पाने के लिए कांबले ने उन्हें फ़ोन किया था।  उस वक़्त आलाट ने कहा था कि मुझे तुम्हरा इंटेंशन समझ में आ गया है। हम कब मिल सकते है।  मेरे आंख का ऑपरेशन होने वाला है इसलिए जल्द मिल लो।
इस पर कांबले ने कहा कि आलाट  आप मुझसे जल्दी मिलो। आपके खिलाफ बड़ा कांड चल रहा है।  इसके बाद आलाट  ने कांबले और मेमन से एक होटल में मुलाकात की। दोनों ने आलाट  से कहा कि 5 से 6 बड़े लोग आपके पीछे लगे है।  उन्होंने हमसे आपकी शिकायत की है। हमारी शिकायत पर आपके खिलाफ पुलिस आयुक्तालय (Police Commissionerate) के सीनियर पुलिस अधिकारी ने केस दर्ज किया है।
आपको गिरफ्तार (Arrest) करने का आदेश दिया गया है।  अगर आपको इस मामले से बचना है तो 2 लाख रुपए देने होंगे।  आप 2 लाख रुपए देंगे तो सेफ रहेंगे नहीं तो पुलिस अधिकारी आपको अंदर करेंगे। राहुल कांबले ने आलाट  के सामने पुलिस अधिकारी, वकील व अन्य दो-तीन लोगों को फ़ोन कर कहा कि हम आलाट के खिलाफ शिकायत वापस ले रहे है।
इसके बाद आलाट  ने समय समय पर दोनों को 75 हज़ार रुपए दिए। लेकिन शेष बचे एक लाख 25 हज़ार रुपए के लिए दोनों बार-बार फ़ोन कर आलाट  को धमकी देते थे। इससे तंग आकर आलाट ने एंटी एक्सटॉर्शन स्क्वॉयड (Anti Extortion Squad) से दोनों की शिकायत की थी।

 

 

Pune Crime | मनपा के इंजीनियर व कॉन्ट्रैक्टर दवारा शिकायतकर्ता पर जानलेवा हमला

Pune Thief | पुणे के कोंढवा में वट पूर्णिमा को सोने की चेन छीनने वाला चोर पत्नी से मिलने आया और पुलिस की जाल में फंस गया