Pune Crime | दस लाख के चरस मामले का मुख्य आरोपी हरियाणा से गिरफ्तार 

पुणे : गैर क़ानूनी (Pune Crime) तरीके से 10 लाख रुपए की चरस की तस्करी करने वाले एक को खड़की बाजार से पकडे जाने के बाद मिली जानकारी पर एंटी नारकोटिक्स ब्यूरो (Anti Narcotics Bureau) की टीम ने हरियाणा (Haryana) जाकर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है। विकास बब्बर सिंह इटकान (Vikas Babbar Singh Itkan) (उम्र 22, नि – भारतनगर, हिसार, हरियाणा ) को खड़की बाजार (Khadki Bazaar) से गिरफ्तार किया गया था। जबकि उसके  मुख्य साथी आरोपी भरत श्यामसुंदर भौमिक (Bharat Shyamsundar Bhowmik) (उम्र 37, नि – दयानंद कॉलोनी, हिसार, हरियाणा ) को पुलिस ने हरियाणा जाकर गिरफ्तार कर लिया (Pune Crime) है।

एंटी नारकोटिक्स ब्यूरो (Anti Narcotics Bureau) के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर विनायक गायकवाड़ (Vinayak Gaikwad) अपने सहकर्मियों के साथ खड़की रेलवे स्टेशन (Khadki Railway Station) परिसर में पेट्रोलिंग (Patrolling) कर रहे थे।  17 अगस्त की शाम 5 बजे खड़की बाजार बस स्टैंड (Bus Stand) के पास पब्लिक रोड पर विकास इटकान संदिग्ध रूप से घूमता नज़र आया। उसके बैग की तलाशी ली गई।  उसके बैग से 10 लाख 10 हज़ार 500 रुपए कीमत का एक किलो चरस (Charas) मिला। टीम ने चरस और उसका मोबाइल जब्त कर लिया।
मामले की जांच के दौरान सहायक पुलिस इंस्पेक्टर लक्ष्मण ढेंगले (Assistant Police Inspector Laxman Dhengle) कर रहे है।  चरस तस्करी (Charas Smuggling) का मुख्य आरोपी हरियाणा में होने  की जानकारी टीम को मिली।  इस जानकारी के बाद एक टीम को हरियाणा भेजा गया।
इसके बाद लक्ष्मण ढेंगले (Laxman Dhengle), अंमलदार सुजीत वाडेकर (Amaldar Sujit Wadekar), संदीप जाधव (Sandeep Jadhav), विशाल दलवी (Vishal Dalvi), पांडुरंग पवार (Pandurang Pawar), विशाल शिंदे (Vishal Shinde) हिसार पहुंचे। उन्होंने भौमिक को 19 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया। उसे पुणे के कोर्ट (Court) में पेश किया गया. उसे 25 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। अपर पुलिस कमिश्नर रामनाथ पोकळे (Police Commissioner Ramnath Pokale), डीसीपी श्रीनिवास घागडे (DCP Srinivas Ghagde) के निर्देश पर सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर विनायक गायकवाड़ (Senior Police Inspector Vinayak Gaikwad) की टीम ने यह कार्रवाई की।

 

हिमाचल प्रदेश से खड़की तक चरस के सफर का पर्दाफाश (Pune Crime)

 

मुख्य आरोपी भरत भौमिक (Bharat Shyamsundar Bhowmik) इससे पहले कल्याण (Kalyan) में जिंदाल कंपनी (Jindal Company) में काम करता था।  इस दौरान उसकी यहां के लोगों से पहचान हुई थी।  इसके बाद वह वापस हरियाणा गया। हिसार में उसने कैंटीन शुरू किया।  हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में चरस का भारी मात्रा में उत्पादन होता है। भौमिक ने हिमाचल प्रदेश से चरस लाया था।  

उसने इटकान को हिसार (Hisar) में लाकर दिया था। विकास ट्रेन से चरस लेकर आ रहा था तभी खड़की में पुलिस (Police) ने उसे पकड़ लिया।  इटकान से पूछताछ में मिली जानकारी के अनुसार पुलिस टीम (Police Team) एक बार हिसार जाकर आ चुकी थी।  लेकिन वहां भौमिक नहीं मिला था।  भौमिक पर इससे पूर्व आर्म्स एक्ट (Former Arms Act) के तहत केस (Case) दर्ज है। लेकिन नशीले प्रदार्थ (Narcotics) को लेकर उसके खिलाफ यह पहला केस दर्ज होने की जानकारी सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर विनायक गायकवाड़ ने दी है।

 

 

Pune Crime | पुणे में 31 वर्षीय विवाहिता के साथ जबरन शारीरिक संबंध, संबंध का वीडियो FB के जरिये पति सहित परिवार को भेजकर बदनामी 

Pune Crime | पुणे में देवर ने 42 वर्षीय भाभी को ‘अवैध’ संबंध का वीडियो वायरल करने की धमकी दी; वारजे मालवाडी में छेड़छाड़ का मामला दर्ज

You might also like

Comments are closed.