Pune Crime Branch Police| पुणे के लोणीकालभोर इलाके में ‘झूम बराबर झूम’, रमी क्लब और मटका अड्डे पर क्राइम ब्रांच का छापा; 72 लोगों पर कार्रवाई!

पुणे: ऑनलाइन टीम- शहर में सबसे बड़े जुआ अड्डे पर कार्रवाई होने से इलाके में खलबली मच गई। पुणे के क्राइम ब्रांच पुलिस ने तीन पत्ते के खेल के ‘क्लब’ और ‘मटका’ पर छापा मारकर 72 लोगों पर कार्रवाई की है। इस रेड में डेढ लाख की नगदी के साथ ढाई लाख का माल जब्त किया गया है। वहीं युनिट 6 ने मटके पर छापा मारते हुए 12 लोगों को पकड़ा। इस कार्रवाई ने पुलिस दल में खलबली मचा दी है।

इस मामले में लोणीकालभोर पुलिस थाने में दो एफआईआर दर्ज किए गए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार उरुली कांचन इलाके में संजय बडेकर के खेडकर मला स्थित एक होटल के पास जुआ अड्डा चलने की जानकारी वरिष्ठ अधिकारी को मिली थी। इसकी पुष्टि की गई। उसके बाद आधी रात को उपायुक्त श्रीनिवास घाडगे ने खुद टीम को साथ में लेकर उस जगह पर छापा मारा। उस समय यहाँ रमी का खेल चल रहा था। पुलिस ने इन सभी को पकड़ कर पूछताछ की। वहाँ पर 1 लाख 48 हजार रुपये नगदी और अन्य सामान कुल मिलाकर ढाइ लाख रुपये के सामान जब्त किए गए। बडेकर के क्लब को अनिल कांचन, अतुल उर्फ आप्पा कांचन व योगेश उर्फ बाला कांचन चार पार्टनर मिल कर चलाते थे। यहाँ पर 15 कर्मचारी हैं।

इस कार्रवाई के दौरान युनिट 6 की टीम ने कुछ ही दूरी पर चल रहे मटका अड्डे पर छापा मारा। वहां से 12 लोगों को पकड़ा गया। यह मटका मंगेश कुलकर्णी का है, ऐसा वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है। यहाँ से 92 हजार नगदी जब्त किया गया। दोनो कार्रवाई एक ही साथ और एक ही समय पर हुई। शहर में अब तक की हुई सबसे बड़ी कार्रवाई है।

यह कार्रवाई पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता के मार्गदर्शन में अप्पर पुलिस आयुक्त अशोक मोराले, पुलिस उपायुक्त श्रीनिवास घाडगे, डाका व वाहन चोरी टीम के पुलिस निरीक्षक शिल्पा चव्हाण, युनिट 6 के पुलिस निरीक्षक गणेश माने और उनकी टीम ने की।

लोणीकालभोर पुलिस थाने की सीमा पहले पुणे ग्रामीण पुलिस के पास थी। हाल ही में लोणीकालभोर पुलिस थाने को पुणे पुलिस आयुक्तालय में शामिल किया गया है। पुलिस आयुक्त द्वारा अवैध धंधे पर कार्रवाई करने का आदेश देने के बाद कार्रवाई शुरू हुई। अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि इतना बड़ा पत्ते का क्लब अउर मटका अड्डा किसके आशीर्वाद से चल रहा था।

पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता इसकी विस्तृत जानकारी लेकर संबंधित पुलिस अधिकारी पर क्या कार्रवाई करेंगे इस पर पूरी पुणे पुलिस टीम की नजर है।

लोणीकालभोर की सीमा में क्लब और मटका अड्डे पर कृपा दृष्टि रखनेवाले संबंधित पर महीने में बड़ी रकम देने की भी चर्चा है। इसकी जानकारी पुलिस आयुक्त अमिताभगुप्ता लेंगे क्या? यह भी बड़ा सवाल है।

‘अशोक’ के पेड़ की तरह बढने वाला एक पुलिस कर्मचारी इस रीजन का कामकाज देखता था, यह भी कहा जा रहा है। उस अशोक जैसे बढने वाले पुलिस कर्मचारी और दूसरे ‘गब्बर’ पुलिस कर्मचारी की इस मामले में जांच होगी क्या? इस बारे में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी क्या कदम उठाते हैं, इस पर सबकी नजर है।

You might also like

Comments are closed.