Pune Crime | आर्यन खान ड्रग्ज मामले में NCB  के गवाह किरण गोसावी के खिलाफ और एक FIR ; मुश्किलें बढ़ी 

पुणे / पिंपरी : पुणे (Pune Crime) के फरासखाना (Faraskhana Police Station), वानवड़ी (Wanwadi Police Station), लष्कर पुलिस स्टेशन (Lashkar Police Station) में ठगी (Fraud) का केस दर्ज होने के बाद  आर्यन खान ड्रग्स मामले (Aryan Khan Drugs Case) के एनसीबी (NCB) के गवाह किरण गोसावी (Kiran Gosavi) के खिलाफ अब भोसरी पुलिस स्टेशन (Bhosari Police Station) में और एक ठगी का  केस दर्ज कराया गया (Pune Crime) है।
इस मामले में विजय कुमार सिद्धलिंग कानडे (Vijay Kumar Siddaling Kande) (उम्र 33, नि – चक्रपाणी कॉलोनी, भोसरी ) ने भोसरी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है।  शिकायतकर्ता 2015 में नौकरी ढूंढ रहा था।  तभी उसने  नौकरी के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था।  इस दौरान अलग-अलग जॉब पोर्टल साइट से नौकरी का ऑफर आ रहा था।  इसी दौरान शिकायतकर्ता को शिवा इंटरनेशनल से 21 मार्च 2015 में उसके मेल आईडी पर जॉब का ऑफर आया।  इसमें उसे विदेश में होटल मैनेजमेंट में नौकरी लगने का  जिक्र किया गया था (Pune Crime) और बायोडाटा भेजने के लिए कहा गया था।
इसके बाद शिकायतकर्ता ने शिवा इंटरनेशनल (Shiva International) के आईडी पर बायोडाटा भेजा था।  इसके बाद किरण गोसावी ने शिकायतकर्ता को बुनेई में नौकरी लगाने झांसा देकर विश्वास पैदा किया।  नौकरी लगाने के नाम पर शिकायतकर्ता से नाशिक फाटा (Nashik Phata) में मुलाकात कर 30 हज़ार रुपए लिए।  इसके बाद शिकायतकर्ता शिवा इंटरनेशनल के घोड़बंदर रोड के कार्यालय में जाकर 5 अप्रैल 2015 में आरोपी को 40 हज़ार रुपए कैसे दिए।
किरण गोसावी (Kiran Gosavi) के कहने पर शिकायतकर्ता ने बताये गए बैंक अकाउंट में 20 हज़ार रुपए जमा करवाया।  मेडिकल के लिए किरण गोसावी के ठाणे (Thane) के कार्यालय में जाकर 10 हज़ार रुपए जमा करवाया।  इस तरह से समय समय पर शिकायतकर्ता से आरोपी ने 2 लाख 25 हज़ार रुपए जमा कराये और ठगी की।  इसलिए यह केस दर्ज कराया गया है।  सहायक पुलिस इंस्पेक्टर महाजन (Assistant Police Inspector Mahajan) मामले की जांच कर रहे है।

 

 

Mumbai Crime | सुखद प्रेम का दुखद अंत ! मुंबई में बीच सड़क पर प्रेमिका पर चाक़ू से वार कर हत्या

You might also like

Comments are closed.