Pune Crime | पुणे-सासवड रोड से 40 किलो गांजा जब्त; क्राइम ब्रांच के एंटी नारकोटिक्स ब्यूरो की कार्रवाई

पुणे : समाचार ऑनलाइन Pune Crime | डीआरआई ने शुक्रवार को ही पुणे में पौने चार करोड़ रुपए का गांजा पकड़ा था। इसके बाद शनिवार को पुणे पुलिस ने पुणे-सासवड रोड से 40 किलो गांजा पकड़ा है। साथ ही गांजा बिक्री करने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार आरोपी का नाम सचिन नरसिंह शिंदे (उम्र 33 ) है। इस मामले में हडपसर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है। शहर के डीआरआई की टीम ने दो गाड़ियों में फलों के जरिये गांजा की तस्करी होने का पर्दाफाश किया है. इसमें 1 879 किलो गांजा पकड़ा गया था। इसका बाजार भाव पौने चार करोड़ रुपए है। यह गांजा पुणे-मुंबई सहित अन्य शहरों में जाने की जानकारी सामने आई है। इतनी बड़ी मात्रा में गांजा की तस्करी हो रही थी तो पुलिस क्यों इसकी जानकारी क्यों नहीं मिली ? यह बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। इसके लिए सीनियर क्राइम ब्रांच और संबंधित स्थानीय पुलिस को जिम्मेदार माना जा रहा है।

 

Join our Telegramfacebook page for every update

इसके बाद शनिवार को एंटी नारकोटिक्स ब्यूरो ने अचानक से कार्रवाई की। हडपसर में सुबह की गश्त पर निकले पुलिस हवलदार मनोज सालुंखे को वैगनार कार से गांजा की तस्करी होने की जानकारी मिली थी। इसके अनुसार शनिवार को सातववाड़ी बस स्टॉप में यह गांजा पकड़ा गया। पुलिस ने 40 किलो 511 ग्राम गांजा पकड़ा है। पुलिस ने गांजा सहित वैगनार कार, 40 हज़ार रुपए कैश, एक मोबाइल सहित कुल 13 लाख 29 हज़ार रुपए का माल जब्त किया है।

पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि यह गांजा रामलिंग रोड शिरूर में एक महिला को बेचने के लिए लाया था। यह कार्रवाई पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता (Pune Police Commissioner Amitabh Gupta) के मार्गदर्शन में अपर पुलिस कमिश्नर अशोक मोराले (Additional Commissioner of Police Ashok Morale), डीसीपी श्रीनिवास घाडगे (deputy commissioner Srinivas Ghadge), एंटी नारकोटिक्स ब्यूरो के पुलिस इंस्पेक्टर विनायक गायकवाड़ (Police Inspector Vinayak Gaikwad), पुलिसकर्मी प्रवीण शिर्के, राहुल जोशी, विशाल शिंदे, विशाल दलवी, मारुति पारधी, प्रवीण उत्तेकर, नितिन जाधव की टीम ने की है।

Comments are closed.