Pune Crime | पुणे में फलों की ढुलाई करने वाले ट्रक से 3.75 करोड़ का 1878 किलो गांजा जब्त ; राजस्व गुप्तचर संचालनालय दवारा 6 लोग गिरफ्तार

 

पुणे, 17 जुलाई : (Pune Crime) अनानास और तरबूज की ढुलाई करने वाले ट्रक में छिपाकर लाये गए गांजा को राजस्व गुप्तचर संचालनालय (Directorate of Revenue Intelligence) की पुणे प्रादेशिक यूनिट (Pune Regional Unit) ने जब्त (Pune Crime) कर लिया है।  इस कार्रवाई में 3 करोड़ 75 लाख रुपए का 1 हज़ार 878 किलो गांजा जब्त किया गया है।  यह कार्रवाई गुरुवार 15 जुलाई को पुणे-सोलापुर हाईवे (Pune-Solapur Highway) में की गई।  इस कार्रवाई में महाराष्ट्र (Maharashtra)और तेलंगाना (Telangana) के 6 लोगों को गिरफ्तार (arrest) किया गया है। पुणे यूनिट दवारा यह कार्रवाई किये जाने से अपराधियों और नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों में हड़कंप मच गया है।

राजस्व गुप्तचर संचालनालय की पुणे प्रादेशिक यूनिट की टीम ने पुणे-सोलापुर हाईवे पर आइशर ट्रक (टीएस 07 यूए 7979 ) और एक कार (आरटीओ पासिंग नंबर टीएस 09 ईपी टी/आर 90   ) इन दो संदिग्ध वाहनों को रोका था. आइशर ट्रक की तलाशी लेने पर इसमें सवार टेम्पो में अनानास और तरबूज था।  इन फलों के नीचे 40 बोरियों में गांजा भरा हुआ मिला।  अधिकारियों ने गांजा जब्त कर आइशर टेम्पो से 2 और कार से 4 इस तरह से 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।
आरोपियों का नाम विलास पवार, अभिषेक घावटे, विनोद राठोड, राजू गोंधवे, श्रीनिवास पवार और धर्मराज शिंदे है.
आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि यह गांजा आंध्र प्रदेश से लाया गया है।  गिरफ्तार आरोपियों पर एनडीपीएस एक्ट 1985 के अनुसार केस दर्ज किया गया है।

 

SSC Website Crash | 10वी बोर्ड का वेबसाइट हैक? राज्य सरकार ने दिया महत्वपूर्ण आदेश 

शुक्रवार को दसवीं का रिजल्ट घोषित किया गया।  http://result.mh-ssc.ac.in और  mahahsscboard.in वेबसाइट पर रिजल्ट (SSC website crash) घोषित किया जाता रहा है।  लेकिन वेबसाइट के क्रैश (website crash) होने की जानकारी सामने आने के बाद विधार्थियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

सामने आई जानकारी के अनुसार 10वी बोर्ड की वेबसाइट हैक हुई है क्या ? इस मामले की जांच करने के लिए राज्य सरकार ने जांच समिति की नियुक्ति की है।  वेबसाइट के हैक होने का संदेह शिक्षा विभाग दवारा व्यक्त किया जा रहा है।  इसकी अधिक जांच के लिए राज्य सरकार ने जांच समिति की नियुक्ति की है।  इस समिति को 15 दिनों में अपनी रिपोर्ट देनी है.

 

You might also like

Comments are closed.