Pune Crime | महावितरण का ठेका दिलाने की आड़ में 15 लाख ठगे

पिंपरी : Pune Crime | उपठेकेदार के तौर पर महावितरण कंपनी (Mahavitaran Company) का वाशी, नवी मुंबई का काम दिलाने का झांसा देकर एक कारोबारी के साथ 15 लाख रुपए की धोखाधड़ी किये जाने का मामला सामने आया है। मई 2019 से 25 नवंबर 2021 के बीच पिंपरी चिंचवड़ (Pimpri Chinchwad) के वाकड में यह घटना घटी। इस बारे में अमोल देशपांडे (Amol Deshpande) (निवासी कोथरूड, पुणे), हेमचंद्र कुरील (Hemchandra Kuril) (निवासी कस्पटे बस्ती, वाकड, पुणे) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उनके खिलाफ राजेंद्र अशोक पाटील (Rajendra Ashok Patil) (42, निवासी कराड) ने वाकड पुलिस थाने (Wakad Police Station) में (Pune Crime) शिकायत दर्ज कराई है।

 

इस बारे में वाकड पुलिस (Wakad Police) से मिली जानकारी के अनुसार, दोनों आरोपियों ने आपस में मिलीभगत कर राजेंद्र पाटिल (Rajendra Ashok Patil) को महावितरण का वाशी, नवी मुंबई का काम उपठेकेदार के तौर पर दिलाने का झांसा दिया। महावितरण को सिक्युरिटी डिपॉजिट (security deposit) देने के नाम पर उन्होंने पाटील से 14 लाख 92 हजार 988 रुपये लिए। पैसे लेने के बाद आरोपियों ने पाटिल की बजाय दूसरी कंपनी को उपठेकेदार के तौर पर काम दिलाया। इसके बाद न तो उन्हें कोई ठेका मिला न उनके पैसे लौटाए गए। पाटिल के बार बार तकाजे के बाद भी आरोपी उनके पैसे लौटाने में टालमटोल करते रहे। खुद को ठगा पाकर पाटिल ने उनके खिलाफ पुलिस (Police) में शिकायत दर्ज कराई। वाकड पुलिस ने देशपांडे और कुरील के खिलाफ मामला दर्ज छानबीन शुरू कर दी है।

 

 

 

Pune Cyber Crime | पुणे के मुंजाबस्‍ती में सोशल मीडिया पर गद्दा बिक्री करना पड़ा महंगा ! महिला को सायबर चोर ने लगाया साढ़े 5 लाख का चूना

 

Pune Crime | पुणे के आंबेगांव में पारिवारिक विवाद में युवक द्वारा  आत्महत्या का प्रयास, पुणे पुलिस ने बचाई युवक की जान  

 

Pune Crime | पुणे में चौंकानी वाली घटना ! जि.प. में अधिकारी के केबिन में हुई नोटों की बारिश, ऑफिसर ने रास्‍ता नापा, कार्यालय में मची खलबली

You might also like

Comments are closed.