Pune Coronavirus Update | ओमिक्रॉन के संकट के बीच पुणे में फिर से लगा प्रतिबंध ; पढ़े सुधारित नियम

पुणे : Pune Coronavirus Update | 1 तारीख से पुणे के सिनेमा हॉल ओर नाट्यगृहों के दर्शकों की संख्‍या पर प्रतिबंध नहीं होने की घोषणा पुणे के पालकमंत्री और राज्‍य के उपमुख्‍यमंत्री अजीत पवार (ajit pawar)  ने की है. लेकिन इस घोषणा पर अमल शुरू हो उससे पहले ही प्रतिबंधों ने सिरदर्द बढ़ा दिया है. ओमिक्रॉन को देखते हुए पुणे (pune) के फिल्‍म और नाट्यगृहों में फिलहाल प्रतिबंधों के अनुसार 50 फीसदी दर्शकों (Pune Coronavirus Update) को प्रवेश मिलेगा. जबकि ओपन में होने वाले कार्यक्रमों के लिए 25 फीसदी दर्शकों को ही परमिश्‍न दी जाएगी. इन प्रतिबंधों का असर 2 दिसंबर से शुरु हो रहे अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म फेस्टिवल पर होने की संभावना है.

पुणे मनपा के आयुक्‍त विक्रम कुमार ने सोमवार को नया आदेश जारी किया है. पालकमंत्री और राज्‍य के उपमुख्‍यमंत्री अजीत पवार ने शनिवार को समीक्षा बैठक में मनोरंजन क्षेत्र को राहत दी थी. लेकिन यह बैठक होने के कुछ घंटों बाद ही राज्‍य सरकार ने नया आदेश जारी कर दिया. कोरेाना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन के कारण पूरा विश्‍व त्राहिमाम कर रहा है. इसे देखते हुए प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है. मनपा आयुक्‍त विक्रम कुमार ने सोमवार की रात नया आदेश जारी किया. सिनेमा हॉल, नाट्यगृह, मंगल कार्यालयों, सभागृह के साथ अन्‍य किसी भी कार्यक्रम के लिए जगह की क्षमता के 50 फीसदी उपस्थिति की परमिशन दी गई है.

ओमिक्रॉन को देखते हुए पुणे में नये लगाए गए प्रति‍बंधों का असर अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म फेस्टिवल पर होने की आशंका है. 2 दिसंबर से पुणे में फिल्‍म फेस्टिवल की शुरुआत हो रही है. इसके साथ ही ओपन जगह पर होने वाले कार्यक्रमों के लिए 1 हजार से अधिक नागरिक उपस्थित होते हैं तो इसकी जानकारी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को देनी होगी. यह बात मनपा ने स्‍पष्‍ट कर दी है. इसके साथ ही पूरे ओपन जगह में किसी भी समारोह, सम्‍मेलन में जगह की क्षमता के 25 फीसदी लोगों की उपस्थिति की परमिशन दी गई है.

फिलहाल पुणे में सभी संस्थाएं और कारोबार पहले की तरह शुरू हो चुके हैं. एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को लंबे समय से प्रतिबंधों के हटाए जाने की उम्मीद थी. यह उम्‍मीद साकार हो पाती उससे पहले की कोरोना के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन की दहशत ने एक बार फिर से पुणे में प्रतिबंधों का सिलसिला शुरू कर दिया है. राज्‍य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स को देखे तो सरकार कोई भी रिस्‍क लेने को तैयार नहीं है. ऐसे में अगर एक बार से पुणे में सारी चीजें बंद होती है तो लोगों पर बड़ी मुसीबत आ सकती है. फिलहाल मेडिकल सेवाओं को पूरी तरह से तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं.

 

Pune Crime | वारजे के नीलेश गायकवाड़ सहित 11 गुंडों पर मकोका ; पुलिस कमिश्‍नर अमिताभ गुप्‍ता की 61वीं कार्रवाई

Devendra Fadnavis | शीतकालीन अधिवेशन केवल 5 दिनों का, फडणवीस ने जताई भारी नाराजगी

Pune Crime | पुणे के मंचर में अज्ञात वाहन ने बाइक को मारी टक्‍कर ; दंपत्ति की मौके पर ही मौत

 

You might also like

Comments are closed.