Pune Anti Corruption | 8 हजार रिश्वत लेते बिजली कंपनी के अधिकारी सहित एक व्यक्ति को एंटी करप्शन ब्यूरो ने किया गिरफ्तार

पुणे : Pune Anti Corruption | नई बिजली मीटर (power meter) जोड़ने के लिए व एक ट्रांसफर करने के लिए 8 हजार रिश्वत (bribe) स्वीकार करनेवाले महाराष्ट्र राज्य विद्युत वितरण कंपनी (Maharashtra State Electricity Distribution Company) के चीफ टेक्नीशियन और एक निजी व्यक्ति को पुणे एंटी करप्शन ब्यूरो (Pune Anti Corruption) ने जाल बिछाकर गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई शुक्रवार को की गई है।

चीफ  टेक्नीशियन संदीप दशरथ भोसले (उम्र 38) और निजी व्यक्ति हरी लिंबराज सूर्यवंशी (उम्र 22, नि. लोहगांव, पुणे) को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है। इस बारे में एक 50 वर्षीय व्यक्ति ने पुणे एंटी करप्शन ब्यूरो के पास शिकायत दी है।

शिकायतकर्ता ने तीन घर का निर्माण किया। इसके लिए तीन बिजली मीटर जोड़ने के लिए और एक मीटर का ट्रांसफर करने के लिए महावितरण कंपनी के विश्रांतवाडी शाखा में आवेदन किया था। इस काम के लिए संदीप भोसले ने शिकायतकर्ता से 8 हजार रिश्वत की मांग की। शिकायतकर्ता को रिश्वत देना मान्य नहीं था इसलिए उसने पुणे एंटी करप्शन ब्यूरो से शिकायत की।

एंटी करप्शन ब्यूरो ने छानबीन की तो पता कअला कि संदीप भोसले ने रिश्वत की मंग की। साथ ही रिश्वत की रकम निजी व्यक्ति हरी सूर्यवंशी के पास देने को कहा। इसी तरह से शिकायकर्ता से संदीप भोसले के लिए 8 हजार रिश्वत स्वीकार करते हुए सूर्यवंशी को रंगेहाथ पकड़ा। दोनों पर येरवडा पुलिस थाने में एंटी करप्शन कानून के अंतर्गत एफआईआर दर्ज किया गया। आगे की जांच एसीबी के पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत चौधरी कर रहे हैं।

यह कार्रवाई पुणे एंटी करप्शन ब्यूरो के पुलिस अधीक्षक राजेश बनसोड, अपर पुलिस अधीक्षक सूरज गुरव, अपर पुलिस अधीक्षक सुहास नाडगौडा के मार्गदर्शन में पुणे एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने की।

You might also like

Comments are closed.