सड़कों पर बैठे प्रदर्शनकारी, चक्का-जाम के समर्थन में उतरी कांग्रेस भी  

नई दिल्ली.ऑनलाइन टीम : नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का देशव्यापी चक्का जाम जारी है। दोपहर 12 बजे से अपराह्न तीन बजे तक उन्होंने तीन घंटे के चक्का जाम का आह्वान किया है।  कांग्रेस सहित लगभग सभी विपक्षी पार्टियों ने इसे अपना समर्थन दिया है। इसके मद्देनजर दिल्ली में 50 हजार सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। वहीं ड्रोन से सीमाओं पर नजर रखी जा रही है। सोशल मीडिया पर पुलिस की एक टीम नजर बनाए हुए है ताकि अफवाहों को फैलने से रोका जा सके। सुरक्षाबलों की एक टुकड़ी को रिजर्व में रखा गया है। दिल्ली मेट्रो ने एहतियातन 10 स्टेशनों पर आवाजाही को बंद कर दिया गया है।

जानकारी मिल रही है कि प्रदर्शनकारी कई जगहों पर पर सड़कों पर बैठ गए हैं। दिल्ली में कानून-व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने में दिल्ली पुलिस की सहायता के लिए, सीमाओं सहित दिल्ली-एनसीआर के विभिन्न हिस्सों में अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है।  दिल्ली में कम से कम 12 मेट्रो स्टेशनों पर किसी भी गड़बड़ी के मद्देनजर अलर्ट पर हैं।   चप्पे-चप्पे पर पहरा है। हालांकि, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में यह प्रदर्शन नहीं हो रहा है। कांग्रेस ने इसको समर्थन दिया है। उसने कहा है कि चक्का जाम करने वालों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर खड़े रहेंगे।

 ऐसी है स्थिति 

-दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर सुरक्षाबल तैनात किया गया है।
– गाज़ीपुर बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।
– लाल किला पर सुरक्षाबल तैनात किया गया है।
– जम्मू-कश्मीर:  किसानों ने जम्मू-पठानकोट हाईवे पर चक्का जाम किया।
– बेंगलुरु:  येलहंका पुलिस स्टेशन के बाहर आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में लिया।
– पंजाब:  किसानों ने अमृतसर और मोहाली में रोड़ ब्लॉक किया।
– राजस्थान :  शाहजहांपुर सीमा (राजस्थान-हरियाणा) के पास राष्ट्रीय राजमार्ग को ब्लॉक।
– हरियाणा:  चक्का जाम के मद्देनज़र पलवल में सुरक्षा कड़ी की गई है।
– लोनी बॉर्डर : भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किया गया है।

समर्थन में उतरे नेता

– ग्वालियर : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने की अपील-सड़कों पर आएं और  ‘धरना’ में शामिल हों।
– शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि कैप्टन साहब का फर्ज बनता है कि वो दिल्ली जाकर बेकसूर नौजवानों को बाहर निकालें और उनके खिलाफ हुए केसों को बंद करें जिससे 200-300 नौजवानों की ज़िंदगी खराब ना हो। 26 जनवरी से उन नौजवानों को बंद करके रखा है, लाल किले के थाने पर एक भी एफआईआर हुई है?

You might also like

Comments are closed.