प्रधानमंत्री मोदी ने पंजबा के ऐतिहासिक सिख तीर्थस्थल में मत्था टेका

 

सुल्तानपुर लोधी (पंजाब), 9 नवंबर (आईएएनएस)| भारत और पाकिस्तान के बीच सात दशकों बाद ऐतिहासिक करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यहां सिखों के एक तीर्थस्थल पर मत्था टेका। सिर पर कपड़ा बांधकर प्रधानमंत्री मोदी ने पवित्र ‘बेइन’ के किनारे स्थित गुरुद्वारा बेर साहिब में समय बिताया। यह स्थान सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी के जीवन की कई घटनाओं से जुड़ा हुआ है।

गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाशोत्सव (जयंती) 12 नवंबर को है।

यहां मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

प्रधानमंत्री ने अमृतसर हवाई अड्डे से एक हेलीकॉप्टर में सुल्तानपुर लोधी के लिए उड़ान भरी।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) ने मोदी को ‘सिरोपा’ (सम्मान की माला) भेंट की।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में गुरुद्वारों का प्रबंधन करती है सिखों के धार्मिक मामलों को देखती है। इसमें सिख गुरुद्वारों में पवित्रतम हरमंदिर साहिब भी शामिल हैं, जिसे अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर के रूप में जाना जाता है।

Comments are closed.