Porn वेबसाइटस बैन, शौकीन लोगों ने ढूंढा जुगाड़

मुंबई, 7 दिसंबर – इंटरनेट पर पोर्न वेबसाइट को बैन करना सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है. पिछले वर्ष अक्टूबर में सरकार ने Pornhub सहित 857 पोर्न साइट को बैन किया था. सरकार के इस निर्णय के बाद इस पर निशाना साधा गया. लेकिन पोर्न देखने का अब नया जुगाड़ निकाल लिया गया है. वर्चुवल प्राइवेट नेटवर्क दवारा इस साइट्स को देखने के मामले करीब 400% बढ़ गया है.

देखने के लिए लगाया जुगाड़ 
पोर्न साइट्स पर बैन लागू होने के बाद रिलायंस जिओ, एयरटेल, वोडाफ़ोन-आईडिया सहित अन्य टेलिकॉम कंपनियों ने पोर्न साइट्स एक्सेस यूजर्स के लिए बंद किया है. लेकिन यूजर्स केवल सोशल मीडिया पर इस निर्णय को लेकर निशाना नहीं साधा तो VPN, प्रॉक्सी और अन्य टूल्स के जरिये बैन वेब्सीटेस का इस्तेमाल शुरू किया है.

बैन वेबसाइट का इस्तेमाल बढ़ा 
मोबाइल में वीपीएन एप्स डाउनलोड कर बैन वेबसाइट को एक्सेस करने के मामले बढ़ गए है. यह संख्या करीब 405% है. वीपीएन इस्तेमाल करने की संख्या देश में 5 करोड़ 70 लाख तक पहुंच गई है. यह आंकड़ा लंदन के एक वीपीएन रिव्यु  फर्म Top10 VPN ने जारी किया है.

वीपीएन डाउनलोड करने के मामले बढे 
अक्टूबर 2018 से अक्टूबर 2019 के बीच मोबाइल वीपीएन डाउनलोड करने का औसत प्रति महीने 66% लोग है।

वीपीएन की मुफ्त सेवा 
भारत में वीपीएन सेवा मुफ्त है. यह ऐप यूजर्स के डेटा बेच कर पैसा कमा रहा है. देश में एक करोड़ 10 लाख यूजर मुफ्त टर्बो वीपीएन का इस्तेमाल करते है. जबकि 70 लाख यूजर सोलो वीपीएन और हॉटस्पॉट शील्ड फ्री का इस्तेमाल करते है.

Comments are closed.