Pooja Chavan Suicide Case : संजय राठौर के बाद क्या किसी और मंत्री को भी इस्तीफा देना होगा? विपक्ष तैयार, सरकार अलर्ट

मुंबई : ऑनलाइन टीम – पूजा चव्हाण सुसाइड केस मामले में महावीकस अघाडी सरकार में मंत्रियों में से एक को इस्तीफा देना पड़ा। वन मंत्री संजय राठौड़ के इस्तीफे के बाद विपक्ष ठाकरे सरकार में पहले मंत्री बनने में सफल रहा। पिछले कई दिनों से पूजा चव्हाण आत्महत्या मामले ने सरकार के खिलाफ संदेह का माहौल बना दिया था।अधिवेशन की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा संजय राठौर के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया गया था, लेकिन अब विपक्ष ने एक और मंत्री के खिलाफ अपनी आवाज उठाई है।

सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे, जिस पर एक महिला के साथ बलात्कार का आरोप लगाया गया था, मामले को लेकर विवादों में घिर गई थी, लेकिन महिला द्वारा अपनी शिकायत वापस लेने के बाद इस मामले को शांत कर दिया गया था, लेकिन अब संजय के बाद धनंजय मुंडे के इस्तीफे की मांग है। धनंजय मुंडे पर एक महिला द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद उनकी दूसरी शादी की कहानी सामने आई। धनंजय मुंडे मामले में एक महिला के साथ संबंध और दो बच्चे होने का पूरा मामला उजागर हुआ था।

संजय राठौर मामले में भाजपा नेताओं ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से नैतिक आधार पर और धनंजय मुंडे के इस्तीफे की मांग की है। यही नहीं, धनंजय मुंडे की दूसरी पत्नी करुणा धनंजय मुंडे ने भी इस मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि संजय राठौर मामले के बाद हम भीख नहीं मांग रहे हैं। पूजा चव्हाण मामले में संजय राठौर की मुश्किल बढ़ गई है और करुणा ने धनंजय मुंडे के खिलाफ बयान दिया है। पूजा की आवाज को दबाने के लिए और कितने प्रयास किए जाएंगे? यह सवाल करुणा से पूछा गया था। इसलिए संजय राठौर के बाद क्या धनंजय मुंडे को भी इस्तीफा देना पड़ेगा? ऐसी चर्चा जारी है।

पंकजा मुंडे ने भी धनंजय मुंडे के इस्तीफे की मांग की है। संजय राठौर की तरह धनंजय मुंडे को इस्तीफा देना चाहिए, संजय राठौर ने इस्तीफा दे दिया, अब इस प्रणाली की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। केवल इस मामले में ही नहीं जांच एजेंसियों को भी हर मामले में वही भूमिका निभानी चाहिए। पंकजा मुंडे ने कहा कि धनंजय मुंडे को इस्तीफा देना चाहिए।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने मांग की है कि राकांपा अध्यक्ष शरद पवार को भी उद्धव ठाकरे के जैसा सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे से इस्तीफा की मांग करनी चाहिए। जैसा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की, क्या शरद पवार अब धनंजय मुंडे के मामले में भी वैसी ही नैतिकता दिखाएंगे? संजय राठौर के बाद धनंजय मुंडे के इस्तीफे को लेकर चर्चा शुरू हो गई है।

You might also like

Comments are closed.