पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करेंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन – किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में होने जा रहे शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सम्मेलन में शिरकत करने के लिए जाते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (छरीशपवीर चेवळ) पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करेंगे, और उनका विमान ओमान, ईरान और मध्य एशिया के लम्बे रास्ते से होकर जाएगा। इससे पहले, यह जानकारी दी गई थी कि भारत ने प्रधानमंत्री को एससीओ की बैठक में हिस्सा लेने जाने के लिए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से गुज़रने की अनुमति मांगी थी, जिसे पाकिस्तान ने दे भी दिया था, लेकिन अब विदेश मंत्रालय ने कहा है कि प्रधानमंत्री ओमान, ईरान और मध्य एशिया के लम्बे रास्ते से होते हुए बिश्केक जाएंगे।

इससे पहले, एक पाकिस्तानी अधिकारी ने बताया था कि इमरान खान सरकार ने बिश्केक जाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विमान को पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से गुज़रने की अनुमति देने के भारत सरकार के अनुरोध को सैद्धांतिक रूप से स्वीकार कर लिया है। अधिकारी ने कहा था कि औपचारिकताएं पूरी होने के बाद भारत सरकार को फैसले से अवगत करा दिया जाएगा। पाकिस्तानी अधिकारी ने कहा था कि नागर विमानन प्राधिकरण को भी निर्देश दिया जाएगा कि वह एयरमेन को सूचित कर दे। साथ ही उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को आशा है कि भारत शांति वार्ता करने की उसकी पेशकश स्वीकार करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिश्केक में 13-14 जून को एससीओ शिखर सम्मेलन में भाग लेने जाना है। पाकिस्तान ने बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शिविर पर भारतीय वायुसेना के हमले के बाद 26 फरवरी को अपना वायुक्षेत्र पूरी तरह बंद कर दिया था। तब से उसने कुल 11 में से केवल दो वायुमार्ग खोले हैं और दोनों दक्षिणी पाकिस्तान से होकर गुज़रते हैं। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा था कि हमने पाकिस्तान से प्रधानमंत्री के विमान को अपने एक ऐसे मार्ग से होकर गुज़रने देने का अनुरोध किया था, जो अभी तक खुला नहीं है।

You might also like

Comments are closed.