PM Kisan Samman Nidhi Yojana | पीएम किसान निधि के 42 लाख अपात्र लाभार्थी, महाराष्ट्र में 4.45 लाख अपात्र लोगों से 358 करोड़ रुपये की करेंगे वसूली

प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना

नई दिल्ली : ऑनलाइन टीम – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की किसानों के लिए महत्‍वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) में एक बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। सरकार ने खुद यह बात स्‍वीकार की है। कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने मंगलवार को लोकसभा (Lok Sabha) में बताया कि देशभर में 42 लाख से अधिक ऐसे किसानों का पता चला है, जो गलत तरीके से पीएम किसान योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) का लाभ ले रहे हैं।

कृषि मंत्री ने बताया कि देशभर में अबतक कुल 42,16,643 अपात्र किसानों की पहचान की गई है। इनके खातों में पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के अंतर्गत कुल 29,92,75,16,000 रुपये जमा कराए गए हैं, जिनकी वसूली सरकार द्वारा की जाएगी। उन्‍होंने कहा कि पीएम किसान स्‍कीम का लाभ पाने के लिए किसान (Farmers) परिवार के लिए भूमि का आकार कोई मानदंड नहीं है।

महाराष्ट्र में 4,45,497 ऐसे व्यक्ति अपात्र हैं और उन्हें सरकार को 358 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) द्वारा मंगलवार को लोकसभा (Lok Sabha) में दी गई जानकारी के अनुसार सबसे ज्‍यादा अपात्र किसानों की संख्‍या असम में है। यहां 8,35,268 किसानों से वसूली की जानी है। इसके बाद तमिलनाडु (7,22,271), पंजाब (5,62,256), महाराष्‍ट्र (4,45,497), गुजरात (2,36,543), कर्नाटक (2,08,705), मध्‍य प्रदेश (2,51,391), राजस्‍थान (2,13,937) और उत्‍तर प्रदेश (2,65,321) का स्‍थान है।

तोमर ने यह जानकारी सुजय पाटिल (Sujay Patil), हिना गावित (Heena Gavit), श्रीकांत शिंदे (Shrikant Shinde) और महाराष्ट्र के कुछ अन्य सदस्यों द्वारा पूछे गए सवाल का लिखित में जवाब देते हुए दी। महाराष्ट्र में 1.14 करोड़ से अधिक किसानों ने इस योजना के लिए पंजीकरण कराया था। इसमें 1.10 करोड़ किसानों को हर साल तीन किस्तों में सीधे उनके बैंक खातों में 6,000 रुपये दिए गए। लाभार्थी किसानों को छह से अधिक किश्तों में औसतन 12,545 रुपये मिले। नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि योजना के लिए पात्र किसानों के नाम राज्य सरकारों (state government) द्वारा दिए गए हैं।

किस जिले के कितने किसान?

अहमदनगर (6.86 लाख), सोलापुर (6.20 लाख), कोल्हापुर (5.47 लाख), सतारा (5.29 लाख) और पुणे (5.14 लाख) इस योजना के प्रमुख लाभार्थी थे। ठाणे (1.19 लाख), नंदुरबार (1.28 लाख), पालघर (1.31 लाख), रायगढ़ (1.52 लाख), गढ़चिरौली (1.52 लाख) और सिंधुदुर्ग (1.54 लाख) में किसानों की संख्या कम है।

 

 

Mumbai Police | मुंबई पुलिस का बड़ा खुलासा, ‘इस’ कंपनी के लिए पोर्नोग्राफी कर रहे थे राज कुंद्रा

Google Chrome | गूगल क्रोम का नया फीचर, अब यूजर वेबासाइट पर दी गई जानकारी को कर सकेंगे ट्रैक

 

 

 

You might also like

Comments are closed.