Pimpri News | पिंपरी चिंचवड़ में कांग्रेस को मिला नया कप्तान

डॉ कैलाश कदम पार्टी के नए शहराध्यक्ष घोषित

पिंपरी : संवाददाता –  Pimpri News | करीबन 11 माह के बाद पिंपरी चिंचवड़ शहर (Pimpri News) में बिना कप्तान के अपने वजूद को बचाने की पारी खेल रही कांग्रेस पार्टी (Congress) को अंततः नया कप्तान मिल ही गया। पार्टी की शहर इकाई की कमान मजदूर नेता डॉ कैलाश कदम को सौंपी गई है। बीती रात पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सांसद (national general secretary) के सी वेणुगोपाल ने इसकी आधिकारिक घोषणा की है। तत्कालीन शहराध्यक्ष सचिन साठे (City President Sachin Sathe) ने पिछले साल 11 नवंबर को शहराध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था। इसके बाद से 11 माह तक यह पद रिक्त पड़ा था। हालिया साठे को कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी में बतौर सचिव के शामिल किया गया। इसके बाद आगामी मनपा चुनाव की पृष्ठभूमि पर डॉ कदम की शहराध्यक्ष पद पर नियुक्ति काफी अहम मानी जा रही है।

कभी पिंपरी चिंचवड़ शहर पर एकछत्र शासन करने वाली कांग्रेस आज अपना वजूद तलाश रही है। तत्कालीन शिक्षा मंत्री प्रो रामकृष्ण मोरे के देहांत के बाद से पार्टी लगातार कमजोर होते चली गई। उनके बाद पुणे के तत्कालीन सांसद सुरेश कलमाडी ने पार्टी की बागडोर संभालने की कोशिश की। हालांकि उन्हें सफलता नहीं मिली उल्टे पुणे की सत्ता से भी उन्हें हाथ धोना पड़ा। पिंपरी चिंचवड़ मनपा (PCMC) में 2002 के बाद से कांग्रेस पार्टी के नगरसेवकों की संख्या लगातार घटती चली गई और 2017 के चुनाव में जीरो पर आ गई। अब चंद माह की दूरी पर मनपा के आम चुनाव (2022) होने जा रहे हैं। ऐसे कठिन समय में डॉ कैलाश कदम को पार्टी की कमान सौंपी गई है। पार्टी को नया रूप देने के साथ मनपा में पार्टी के नगरसेवक जिताने की उनके समक्ष कड़ी चुनौती है। बहरहाल एक मजदूर नेता को शहराध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपे जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह संचारित हो गया है। आज शहरभर में महापुरुषों के स्मारकों पर माल्यार्पण कर डॉ कदम ने शहराध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल ली है।

मजदूर नेता के अलावा डॉ कैलाश कदम (Dr. Kailash Kadam) पिंपरी चिंचवड़ मनपा के भूतपूर्व नगरसेवक रह चूके हैं। उन्होंने विपक्षी दल के नेता, पुणे जिला नियोजन समिति सदस्य की जिम्मेदारी भी बखूबी निभाई है। एक आम मजदूर के पुत्र रहे कदम ने पिंपरी के एचए इंग्लिश स्कूल से पढ़ाई पूरी की है। 1997 में पिंपरी चिंचवड़ मनपा में उनके नेतृत्व तले पहली महिला नगरसेविका निर्विरोध चुनी गई। 2007 के मनपा चुनाव में उनकी भाभी निर्मला कदम नगरसेविका चुनी गई। वहीं 2012 के चुनाव में खुद वे और उनके भाई सद्गुरु कदम नगरसेवक चुने गए। फिलहाल कैलाश कदम देश में मेहनतकश मजदूरों का नेतृत्व करनेवाले सबसे बड़े संगठन इंटक के राष्ट्रीय सचिव और पुणे जिलाध्यक्ष हैं। उन्होंने मजदूरों के हक के लिए सड़कों पर कई लड़ाइयां लड़ी हैं। एक संघर्षशील नेता के रूप में परिचित कैलाश कदम से कांग्रेस के सामान्य कार्यकर्ताओं को काफी उम्मीदें हैं। अब वे उनकी उम्मीदों पर कैसे खरे उतरते हैं, यह देखना दिलचस्प होगा।

 

Web Title : Pimpri News | In Pimpri Chinchwad, the Congress got a new captain

Pimpri Chinchwad | सेवा विकास बैंक में धोखाधड़ी के 2 और मामले उजागर

Pimpri Chinchwad Corporation | पिंपरी मनपा को स्टांप शुल्क के हिस्से के रूप में मिलेगा 20 करोड़ का अनुदान

Rajesh Tope | राज्य में दशहरा, दिवाली के बाद कोरोना की तीसरी लहर की संभावना ; राजेश टोपे ने दी चेतावनी  

You might also like

Comments are closed.