पिंपरी चिंचवड़ पुलिस ने किया रक्तचंदन की तस्करी का पर्दाफाश

साढ़े छह टन रक्तचंदन सहित साढ़े छह करोड़ का माल जब्त; 5 गिरफ्तार; अंतरराष्ट्रीय कनेक्शन उजागर
संवाददाता, पिंपरी। पिंपरी चिंचवड़ की वाकड पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए रक्तचंदन की तस्करी का पर्दाफाश किया है। इस कार्रवाई में 6.420 टन रक्तचंदन से भरा ट्रक, एक कार और मोबाईल फोन आदि कुल 6 करोड़ 52 लाख 45 हजार रुपये का माल बरामद किया है। इस पूरे मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनके चार साथी फरार हैं जिनमें से दो दुबई में हैं। इससे रक्तचंदन की तस्करी का अंतरराष्ट्रीय कनेक्शन भी उजागर हुआ है। अब पुलिस फरार आरोपियों पर शिकंजा कसने में जुटी है।
इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों में नीलेश विलास ढेरंगे (35, निवासी पिपंलगांव देपा, संगमनेर, अहमदनगर), एम. ए. सलिम (43, निवासी नंबर 62 जोग रोड कारगल कालोनी, सागर, शिमोगा, कर्नाटक), विनोद प्रकाश फर्नांडिस (45, निवासी नाईक चाल, एमजीम हॉस्पिटल के पास कातकरवाडी, नौपाडा, कलंबोली, नवी मुंबई), जाकीर हुसेन अब्दुलरेहमान शेख (50, निवासी एफ/जी/1 चिता गेट, ट्रॉम्बे, मुंबई), मिन्टोभाई उर्फ निर्मलसिंग मंजितसिंग गिल (36, निवासी मैकडोनाल्ड के पास, कलंबोली, नवी मुंबई) का समावेश है।
पिंपरी चिंचवड़ के पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में जानकारी देते हुए बताया कि, 12 मई को पैट्रोलिंग के दौरान वाकड पुलिस थाने के  पुलिस नाईक वंदु गिरे और हवालदार राजेंद्र काले को विजन मॉल ताथवडे में एक सफेद रंग की मारुती 800 कार नजर आयी। इसके आगे की नँबर प्लेट नहीं थी जबकि पीछे की नँबर प्लेट टूटी हुई थी। इससे पुलिस को शक हुआ और कार के पास खड़े कुछ लोगों में से तीन लोगों को पकड़ लिया, जबकि अन्य दो अंधेरे में भाग निकले। पूछताछ में वे टालमटोल करने लगे। निलेश ढेरंगे के मोबाईल फोन में रक्तचंदन से भरे एक ट्रक की फोटो शेयर की गई नजर आयी। उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की तब उन्होंने बताया कि, उन्होंने रक्तचंदन चुराकर एक ट्रक (एम एच 40 / ए के 1869) में भरकर ताथवड़े के निलकमल होटल के सामने के मैदान में पार्क किये जाने की बात बताई।
ताथवड़े में पहुंचकर ट्रक की तलाशी लेने पर करीबन 5 से 6 फीट  रक्त चंदन की 6.420 टन लकड़ी के कुंदे मिले। शुरू में पुलिस ने निलेश, सलीम, विनोद को गिरफ्तार किया बाद में अन्य दोनो आरोपियों को नवी मुंबई से गिरफ्तार कर लिया। उनके चार साथी फरार हैं जिसमें से दो दुबई के हैं। इससे इस तस्करी का अंतरराष्ट्रीय कनेक्शन उजागर हुआ है। इस पूरी कार्रवाई को वाकड थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डॉ विवेक मुगलीकर, पुलिस निरिक्षक (क्राइम) संतोष पाटील, निरीक्षक सुनिल टोणपे, सहायक निरीक्षक संतोष पाटील, अभिजीत जाधव, कर्मचारी वंदू गिरे, राजेंद्र काले, सुरज सुतार, कौंतेय खराडे, कल्पेश पाटील, अतिश जाधव, प्रशांत गिलबिले, बिभीषन कन्हेरकर, विजय गंभीरे, विक्रम कुदल, नितीन गेंगजे, बापुसाहेब घुमाल, तात्या शिंदे, नितीन ढोरजे, प्रमोद कदम, जावेद पठाण, बाबाजान इनामदार, सचिन नरुटे, शाम बाबा, नुतन कोंडे के समावेश वाली टीम ने अंजाम दिया।
You might also like

Comments are closed.