PHOTOS : भारत में हैं एशिया का सबसे स्वच्छ गांव, जहां सड़क पर थूकना है बैन

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन – भारत में एक ऐसा गांव है जिसे एशिया का सबसे स्वच्छ गांव का दर्ज़ दिया गया है। वैसे भारत गावों का ही देश है। यहां की मिट्टी में हम बस्ते है। बता दें कि कई सालों से लगातार अपनी स्वच्छता के लिए भारत ही नहीं बल्कि पूरे एशिया में ये गांव मशहूर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह गांव भारत के मेघालय राज्य में स्थित है। इस गांव का नाम मावलिन्नांग है। यह गांव मेघालय की राजधानी शिलांग और भारत-बांग्लादेश बॉर्डर से 90 किलोमीटर दूर स्थित है।

इस गांव की जनसंख्या लगभग 500 लोगों की है। इस छोटे से गांव में करीब 95 खासी जनजातीय परिवार रहते हैं। स्वच्छता के लिए मशहूर मावलिन्नांग गांव में पॉलीथीन पर पूरी तरह से रोक है। इतना ही नहीं बल्कि यहां सड़कों और सार्वजनिक स्थानों पर थूकना मना है। इस गांव के रास्तों पर जगह-जगह कूड़े फेंकने के लिए बांस के कूड़ेदान लगाए हुए हैं। साथ ही गांव के रास्तों के दोनों ओर फूल-पौधे लगाए गए है। इसके अलावा स्वच्छता का निर्देश देने वाले बोर्ड भी लगाए गए है। इस गांव के हर परिवार का एक न एक सदस्य यहां की सफाई में रोज भाग लेता है।

बताया जाता है कि मावलिन्नांग के लोग कंक्रीट के मकान की बजाए बांस से बने मकानों रहना ज्यादा पसंद हैं। स्वच्छता के लिए मशहूर मावलिन्नांग को देखने के लिए हर साल पर्यटक भारी संख्या में आते हैं। इस गांव को भगवान का अपना बगीचा (God’s Own Garden) के नाम से भी जाना जाता है।

 

You might also like

Comments are closed.