Petrol Diesel Price | देश के 25 राज्यों ने पेट्रोल के भाव कम किये, महाराष्ट्र सरकार ने अब तक क्यों नहीं ? 

मुंबई : Petrol Diesel Price | केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल का उत्पादन टैक्स कम कर ग्राहकों को राहत दी है. अब राज्य सरकार पेट्रोल-डीजल पर वैट व अन्य टैक्स कम करें. यह मांग भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आंदोलन करके की थी।  अब विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने राज्य सरकार को वैट कम करके राज्य की जनता को राहत देने (Petrol Diesel Price) की मांग की है।

 

केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती किये जाने के बाद देशभर में पेट्रोल और डीजल की कीमत में क्रमशः पांच व दस रुपए की कमी आई है। इसके बाद देश के राज्यों में वैट कम किये जाने से वहां ईंधन की कीमत में कमी  आई है।  लेकिन महाराष्ट्र में अभी तक वैट कम नहीं  किया गया है।  इस पर देवेंद्र फडणवीस ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राज्य सरकार पर निशाना साधा है।  उन्होंने कहा कि पेट्रोल पर 5 रुपए और डीजल पर 10 रुपए कम करने पर 25 राज्यों ने इसकी कीमत और कम की है।  महाराष्ट्र क्यों नहीं ?

राज्य की महाविकास आघाडी सरकार को केंद्र का अनुसरण करते हुए वैट व अन्य टैक्स में कटौती कर जनता को राहत देनी चाहिए।  महाविकास आघाडी के घटक दल पेट्रोल-डीजल की कीमत (Petrol Diesel Price ) में बढ़ोतरी पर लगातार आंदोलन कर रहे थे।  अब जबकि केंद्र ने ईंधन की कीमत में कटौती की है तो राज्य सरकार इईंधन पर लगा सभी प्रकार का टैक्स कम करे। यह मांग भाजपा (BJP) ने आंदोलन के दौरान की थी।

 

टैक्स कम करना संभव नहीं

 

राज्य में कमाई का दूसरा साधन नहीं है।  अभी तक आर्थिक गाड़ी पटरी पर नहीं आई है।  दैनिक खर्च भी कम नहीं है।  ऐसे में राज्य में पेट्रोल और डीजल के टैक्स (Tax) कम करना संभव नहीं है।  यह सफाई उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Ajit Pawar) ने दी है. वे कार्तिकी यात्रा (Kartiki Yatra) के मद्देनज़र पंढरपुर आये थे।  इसी मौके पर वे बोल रहे थे। पेट्रोल-डीजल के टैक्स को लेकर उन्होंने कहा कि आने वाले अधिवेशन से पहले टैक्स कम करने से कितना नुकसान उठाना होगा यह देखने के बाद निर्णय लिया जाएगा।

 

 

 

Nitin Gadkari | गडकरी के प्रस्ताव से किनारा ; सिंहगढ़ रोड में बनेगा एक मंजिल का फ्लाईओवर 

Pune Crime | पुणे के कोंढवा में डॉक्टर दवारा 14 वर्षीय लड़की से पूछने पर 4 वर्ष पहले की वो घटना सामने आई 

Pune News | एरिया सभा का नियम लागू करने तक बहुसदस्यीय प्रणाली से चुनाव पर स्थगिती दें

You might also like

Comments are closed.