‘पवार साहब को भी ईडी की नोटिस आई, लेकिन…’ अनिल देशमुख मामले में सुप्रिया सुले की पहली प्रतिक्रिया

पुणे : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आज सुबह पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और उनके करीबियों के घर पर छापेमारी की। इस कार्रवाई से देशमुख की मुश्किलें बढ़ने की संभावना है। इस मुद्दे पर राष्ट्रवादी कांग्रेस की सांसद सुप्रिया सुले ने भाजपा पर निशाना साधा है। सुप्रिया सुले ने कहा, “मैंने अब तक वैचारिक राजनीति देखी है, लेकिन यह पहली बार है जब बदला लेने के लिए किसी एजेंसी का गलत इस्तेमाल होते देख रही हूँ।‘’ वह पुणे में मीडिया से बात कर रही थी।

अनिल देशमुख पर ईडी के छापे के बारे में पूछे जाने पर यह विपक्ष द्वारा जानबूझकर किया जा रहा है। मैंने अब तक विचारों की राजनीति देखी है। सुप्रिया सुले ने कहा है कि उन्होंने कभी विपक्ष के खिलाफ राजनीति के लिए एजेंसी का दुरुपयोग होते नहीं देखा।

‘पवार साहब ने विचारों की राजनीति की लेकिन…’

अनिल देशमुख की ईडी जांच के बारे में बोलते हुए, सुप्रिया सुले ने भाजपा पर तीव्र आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, ‘पवार साहब को ईडी की ओर से भी नोटिस मिला था। पवार साहब ने वैचारिक राजनीति तो की लेकिन सत्ता का दुरुपयोग कर विपक्ष को कभी नुकसान नहीं पहुंचाया। इसके लिए किसी जांच तंत्र का इस्तेमाल नहीं किया गया। लेकिन अनिल देशमुख के साथ भी ऐसा ही हुआ है। ऐसा जानबूझकर किया जा रहा है, लेकिन ठीक है हम लड़ेंगे, ‘सुप्रिया सुले ने कहा।

व्यक्तिगत बदला लेने का एजेंडा नहीं

राज्य में इस समय कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है। यह घातक संक्रमण की वजह से कई समस्याएं सामने आ रही है। ऐसे में तीसरी लहर की आशंका है, इसलिए इस काम में सभी मंत्री, नेता, अधिकारी, विधायक, सांसद लगे हैं। सुप्रिया सुले ने कहा, हमारे पास विपक्ष की तरह बदले की राजनीति करने का समय नहीं है। इतना ही नहीं, जब प्रदेश में कोरोना, स्वास्थ्य व्यवस्था और बेरोजगारी जैसे संकट है तो विपक्ष का ऐसा करना दुर्भाग्यपूर्ण है, ऐसा सुप्रिया सुले ने कहा।

You might also like

Comments are closed.