Pune News : कुख्यात गजानन मारणे और 15 लोगों को पप्पू गावडे के खून के मामले में मोक्का न्यायालय ने किया बरी

पुणे : ऑनलाइन टीम – कुख्यात अपराधी गजानन मारणे और उनके 15 साथियों को पप्पू गावडे खून के मामले में बरी कर दिया गया है। विशेष मोक्का न्यायाधीश ए. वाय. थत्ते ने यह फैसला सुनाया। कुछ दिन पहले ही अमोल बाधे के हत्या मामले से भी उसे बरी कर दिया गया था। जिसके बाद अब गजानन मारणे का जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है।

गजनान उर्फ गजा पंढरीनाथ मारणे (44, हमराज चौक, शास्त्रीनगर कोथरुड), रुपेश कृष्णराव मारणे, पपू उर्फ अतुल लक्ष्मण कुडले (30), संतोष विश्वनाथ शेलार, सुनील नामदेव बनसोडे, सागर कल्याण राजपूत, गणेश नामदेव हुंडारे, प्रदीप दत्तात्रय कंधारे, अनंता ज्ञानोबा कदम, बाब्या उर्फ श्रीकांत संभाजी पवार, बापू श्रीमंत बागल, गोरक्षनाथ तुकाराम हाळदे, यशवंत उर्फ बाळा दासू बोकेफोडे व उमेश नागु टेमघरे ऐसी बरी किये गए सभी का नाम है। इस मामले में पौड पुलिस थाने में निलेश जाधव ने शिकायत दर्ज कराई थी।

दो गिरोह में विवाद के बाद गजा मारणे की गैंग ने नवंबर 2014 में देर रात पप्पू गावडे की हत्या कर दी थी। बेरहमी से हत्या की गई थी। इसके बाद शहर समेत जिले में हड़कंप मच गया था। इस मामले में पौड पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद पुलिस ने मोक्कानुसार कारवाई की थी।

इस मामले की सुनवाई मोक्का न्यायालय में शुरू था। इस पर आज न्यायालय से फैसला भी आ गया। कोर्ट ने गजा मारणे और उसके साथियों को बरी कर दिया। अदालत ने कहा कि आरोपियों को सबूतों की कमी के कारण छोड़ दिया गया।

You might also like

Comments are closed.