…. अन्यथा कोकणवासी कोल्हापुरी चप्पल हाथों में लेकर नवाब भाई का स्वागत करेंगे 

मुंबई, 22 मई : ताऊ-ते चक्रवाती तूफान से हुए नुकसान का निरीक्षण करने के लिए विधानसभा में विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस और विधान परिषद् के विरोधी पक्ष नेता प्रवीण दरेकर ने रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिले का दौरा कर वहां की स्थिति की समीक्षा की।  उनके इस दौरे पर राज्य के अल्पसंख्यक मंत्री व राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रवक्ता नवाब मलिक ने टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि विरोधियों का दौरा सूट-बूट का दौरा है।  साथ ही फडणवीस और दरेकर दवारा इस दौरे में पहने गए बूट पर भी निशाना साधा था।  नवाब मलिक के इस हमले का अब प्रवीण दरेकर ने जवाब दिया है।

उन्होंने कहा कि विरोधी पक्ष के नेताओं के बूट पर नज़र रखने की बजाय नुकसानग्रस्त कोंकणवासियों की मदद करे. अन्यथा पुमा, नाइकी किनारे रह जायेगा और कोंकणवासी कोल्हापुरी चप्पल लेकर नवाब मलिक का स्वागत करेंगे। इससे पहले नवाब मालिक ने निशाना साधते हुए कहा था कि इस दौरे में दोनों विरोधी पक्ष नेता ने एक जैसे बूट पहने थे।

अब वह दौरे के लिए बूट खरीद रहे है।  लेकिन वह दौरों पर जा रहे है. उन्हें मुख्यमंत्री के दौरे पर सवाल उठाने का अधिकार नहीं है।  बूट एक जैसा पहना है।  यानी दौरे की तैयारी के तहत खरीदारी की गई।  आम नागरिकों के बीच जाने के लिए नए बूट खरीदने पड़ रहे है।  क्योकि आपने फोटो देखा होगा तो दोनों विरोधी पक्ष नेता एक जैसे नए बूट पहनकर दौरे पर थे. यह सब कुछ फोटो में नज़र आ रहा है।

मुख्यमंत्री दवारा हाल ही में किये गए समीक्षा दौरे को केवल दर्शन कार्यक्रम कहकर विधान परिषद् में विरोधी पक्ष नेता प्रवीण दरेकर ने निशाना साधा है।  उन्होंने कहा, विरोधी पक्ष नेता तीन दिन और मुख्यमंत्री तीन घंटे। विरोधी पक्ष नेता ने कोंकणवासियों के बांध कर जाकर बातचीत की और मुख्यमंत्री का केवल दर्शन कार्यक्रम। इस तरह का ट्वीट प्रवीण दरेकर ने किया है।
You might also like

Comments are closed.