Osho Ashram | पुणे के ओशो आश्रम के साधकों ने लगाया गंभीर आरोप

पुणे ओशो आश्रम

पुणे (Pune News) : कोरेगांव पार्क के प्रसिद्ध ओशो आश्रम (Osho Ashram) में करोड़ों रुपये की हेराफेरी की जा रही है,इस बारे में पुलिस एफआईआर दर्ज नहीं करने की शिकायत ओशो फ्रेंड्स फाऊंडेशन (Osho Friends Foundation) ने मंगलवार को की। ओशो आश्रम (Osho Ashram) की प्रशासकीय संस्था ओशो इंटरनेशनल फाउंडेशन (Osho International Foundation) है। यह संगठन महाराष्ट्र पब्लिक ट्रस्ट (Maharashtra Public Trust) के तहत पंजीकृत है। संगठन में कार्यरत अधिकारियों ने विदेशी मुद्रा रोकथाम अधिनियम का उल्लंघन किया है। फाउंडेशन के मैनेजिंग ट्रस्टी योगेश ठक्कर (Yogesh Thakkar) ने कहा कि अगर पुलिस ने लेन-देन की गहन जांच की, तो इससे कम से कम 1,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हो सकती है।

 

इस मौके पर फाउंडेशन की किरण दुबे, आरती राजदान आदि मौजूद रहीं। ठक्कर ने कहा, ‘ओशो इंटरनेशनल फाउंडेशन (Osho International Foundation) ने विदेशों से बड़ी मात्रा में चंदा इकट्ठा किया है। चैरिटी कमिश्नर (Charity Commissioner) और विदेशी मुद्रा विभाग (Foreign Exchange Department) की अनुमति के बिना देश के बाहर बहुत अधिक दुराचार हुआ है। ओशो आश्रम के कुछ हिस्से को बेचने का भी प्रयास किया गया है।

इस संबंध में सभी साक्ष्य 7 जुलाई को कोरेगांव पार्क थाने (Koregaon Park Police Station) को दे दिए गए हैं। हालांकि, पुलिस द्वारा अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।” पुलिस इस मामले में विस्तृत जांच अर ओशो इंटरनेशनल फाऊंडेशन (International Foundation) के पदाधिकारी पर कार्रवाई करे, ऐसा भी उन्होने कहा।

 

इस संबंध में कोरेगांव पार्क थाने के निरीक्षक दिलीप शिंदे (Dilip Shinde) ने कहा, ”ओशो फ्रेंड्स फाउंडेशन के योगेश ठक्कर (Yogesh Thakkar) द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत की जांच की जा रही है। इसे पूरा होने पर उचित कार्रवाई की जाएगी।”

 

 

Mamta Kulkarni | ड्रग्स केस; अभिनेत्री ममता कुलकर्णी को कोर्ट से राहत नहीं

Video Viral | शराब के नशे में बीच सड़क पर युवती ने किया हंगामा, पुणे के टिलक रोड की घटना

 

You might also like

Comments are closed.