पके मांस खाने से खतरा  नहीं, अधपके अथवा कच्चे नॉनवेज से बचें

ऑनलाइन समाचार. – चीन में फैले कोरोना वायरस का कहर शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। चीन के अलावा अब तक 40 देशों में इसके संदिग्ध मामले सामने आ चुके है।  विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने  पहले ही  इमर्जेंसी घोषित कर चुका है। इस घातक बीमारी को नॉनवेज खाने से भी जोड़कर देखा जा रहा है। जानकारों का मानना है कि पके नॉनवेज खाने से इस बीमारी का खतरा तो नहीं, लेकिन अधपके अथवा कच्चे मांस से जरूर है।  चिकन खाने से कोरोना वायरस होने जैसी बातें सच नहीं हैं. भारत में जैसे खाना पकाया जाता है, उससे किसी वायरस के बचने की संभावना कम ही है. चिकन या अंडा खाने से कोई दिक़्क़त नहीं है. गर्मी आने पर कोरोना वायरस कम हो जाएगा. जैसे ही तापमान बढ़ेगा कोरोना वायरस का असर कम हो जाएगा.
जानें, कोरोना वायरस क्या है? कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध चमगादड़ एवं अन्य जानवरों में पाए जाने वाले वायरस से है।  जानकारी के अनुसार चमगादड़ के सूप के इस्तेमाल से यह वायरस फैला है।  जवकि कोरोना वायरस का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती  है। जहां  इस वयरस को पहले कभी नहीं देखा गया है। जिसकी शुरूआत का  दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)  के मुताबिक इसके लक्षण  बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ हैं। वहीं इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए अभी तक  कोई टीका नहीं बना है।

 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा, ”अब तक भारत में कोरोना वायरस के 28 मामले सामने आ चुके हैं.” ये मामले केरल, तेलंगाना, जयपुर और दिल्ली में सामने आए हैं. इन लोगों को निगरानी पर रखा गया है.

You might also like

Comments are closed.