निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पवन की क्यूरेटिव पिटीशन, कल दी जानी है फांसी

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन – निर्भया केस के दोषियों को 3 मार्च सुबह 6 बजे फांसी देने का ऐलान किया गया। पटियाला हाउस कोर्ट ने ये डेथ वारंट जारी किया है। जिसके मुताबिक फांसी तिहाड़ जेल में दी जाएगी। दोषियों के खिलाफ ये तीसरा डेथ वारंट जारी हुआ है। पटियाला हाउस कोर्ट ने ये डेथ वारंट जारी किया है। इससे पहले 21 जनवरी और 1 फरवरी के लिए भी डेथ वारंट जारी किया गया था, लेकिन वे कोई ना कोई कानूनी पेंच निकालकर बच जाया करते थे।

निर्भया केस पर बड़ा अपडेट सामने आया है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने पवन कुमार की क्यूरेटिव पिटीशन को खारिज कर दिया है। मामले की सुनवाई आज बंद कमरे में हुई। इस याचिका की सुनवाई पांच जचों की पीठ ने की, जिसमें जस्टिस एन वी रमण, जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस आर एफ नरीमन, जस्टिस आर भानुमति और जस्टिस अशोक भूषण शामिल थे। गौरतलब है कि सभी दोषियों को कल यानि की 3 मार्च को फांसी दी जनि है।  बता दें कि चारों दोषियों को कल फांसी दी जाएगी या नहीं इस पर भी आज सुनवाई होगी।

सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाई कोर्ट के अलावा आज पटियाला हाउस कोर्ट में भी निर्भया के दोषियों की अर्जी पर सुनवाई होगी। दरअसल, निर्भया के दोषी अक्षय और पवन ने कोर्ट में भी अर्जी लगाई, जिसमें डेथ वारंट पर रोक की मांग की गई है। कोर्ट में निर्भया के दोषी पवन ने दलील दी कि उसने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन लगाई है। लिहाजा उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाई जाए।

दोषी पवन के पास अभी बचे है एक और विकल्प –

पवन कुमार ही एक मात्र दोषी है, जिसके पास अभी कुछ कानूनी विकल्प बची थी। इसमें क्यूरेटिव पिटीशन तो खारिज हो गया है। अब केवल दया याचिका का ऑप्शन बचा है। पवन के वकील एपी सिंह ने कहा कि अब हम राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर करेंगे।

You might also like

Comments are closed.