Google के इस्तेमाल से अब हैकर्स बना रहे हैं आपके बैंक अकाउंट को निशाना, हैकर्स ने फ्रॉड का नया तरीका खोजा

एक महिला के अकाउंट में सेंध लगाकर 95 हजार उडाए

समाचार ऑनलाइन – वर्तमान में हैकर्स इतने एडवांस हो गए है कि, वे लोगों को सेंध लगाने के लिए ऐसे नए-नए तरीकें खोज लेते हैं, जिनका एक्सपर्ट्स भी अंदाजा नहीं लगा सकते. हाल ही में अब इंटरनेट पर एक ऐसा फ्रॉड सामने आया है, जिसमें एक महिला के अकाउंट से हैकर्स में 95 हजार रुपए गायब कर दिए. इस महिला की सिर्फ इतनी सी गलती हो गई थी कि, उसने Google पर Swiggy Go के कस्टमर केयर का नंबर सर्च किया था.

बात में जब छानबीन हुई तो पता चला कि google पर सर्च किया गया नंबर फर्जी था. महिला ने जब उस नंबर पर कॉल किया तो वह कॉल हैकर्स से कनेक्ट हो गई और इसका फायदा उठाकर हैकर ने महिला की जानकारी प्राप्त कर ली.

हैकर्स ऐसे करते हैं हाथ की सफाई

यूजर्स कई नंबर्स निकालने के लिए Google सर्च का सहारा लेते हैं. इस सर्ज इंजिन में गूगल मैप्स और गूगल सर्च में यूज़र्स को उनका कॉन्टैक्ट नंबर और ऐड्रेस को एडिट करने की सुविधा मिलती है, जिसका फायदा उठाकर हैकर्स स्विगी, जोमैटो, पेटीएम या बैंको आदि के गलत नंबर डाल देते हैं. इसे गूगल की भाषा में फेक बिज़नेस लिस्टिंग कहा जाता है. जब कोई शख्स इन नंबरों पर फोन करता है, तो हैकर एक प्रोफेशनल की तरह बात करके, शख्स की बैंक संबंधी जानकारी निकलने की कोशिश करते हैं. इसके बाद इन ऐप्स के इस्तेमाल से हैकर्स यूजर्स के डिवाइस का पूरा डाटा ऐक्सेस कर लेते हैं.

ऐसे रखे सावधानी

अगर आप भी Google सर्च इंजिन के इस्तेमाल से होने वाली हैकिंग का शिकार होने से बचना चाहते हैं, तो गूगल पर उपलब्ध कस्टमर केयर नंबर्स और एड्रेस पर कभी भी भरोसा ना करें. इसलिए यह उचित होगा कि आप कोई भी नंबर संबंधित कंपनी की ऑफिशल वेबसाइट से ही प्राप्त करें.

 

Comments are closed.