अब ऑफिस में ‘शराब’ पीकर जाना पड़ेगा ‘महंगा’, ‘ये’ देगा HR को ‘अलर्ट’

चेन्नई: समाचार ऑनलाइन- शराब पीने वाले खबरदार! अब वे अपने ऑफिस में शराब पीकर नहीं जा सकते. अगर फिर भी वे ऐसी गलती करते हैं तो, उनको ऑफिस में एंट्री नहीं मिलेगी या फिर काम से हाथ धोना पड़ सकता है. क्योंकि चेन्नई की रेम्को कंपनी ने एक फेशियल रिकग्निशन अटेंडेंस सिस्टम बनाया है, जो आपकी सांस की गति को मापकर बता देगा कि आप नशे में हैं. इस फेशियल रिकॉग्निशन अटेंडेंस सिस्टम में ब्रीथ एनालाइजर का इस्तेमाल किया गया है. यह कर्मचारियों के चेहरे और सांसों का विश्लेषण करेगा. इसलिए अगर कर्मचारी नशे में है, तो इसकी जानकारी तुरंत HR को भेज देगा.

100% सही जानकारी देने में सक्षम

कंपनी का दावा है कि ब्रेथ एनालाइजर 100% सही जानकारी बताने में सक्षम है. यह तकनीक उन लोगों को आसानी से पहचान लेगा, जो ऑफिस में नशा करके आते हैं. यह टेक्निक ऑफिस में एक बेहतर माहौल बनाए रखने में मददगार साबित होगी.

अब यह होगा अगला कदम…

कंपनी के CEO विरेंदर अग्रवाल ने कहा कि, वह अब ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित कर रहे हैं जो नशीली दवाओं और ड्रग की लत को भी पकड़ लेगा. भारत में बढ़ रहे ड्रग एडिक्ट्स की संख्या को देखते हुए, उन्होंने यह टेक्निक निजात करने का निर्णय लिया है.

देश में बढ़ रहे है शराब और नशे के शौकीन

जर्मनी में हुए एक शोध के अनुसार, भारत में साल 2010 से 2017 के दौरान शराब पीने वालों की संख्या में 38% बढ़ी है. इसका नकारात्मक प्रभाव ऑफिस में भी पड़ता है. कंपनी का कहना है कि, समय रहते यह सॉफ़्टवेयर शराब पीने के बाद होने वाली किसी भी अनहोनी दुर्घटना को रोकने में सक्षम है.

You might also like

Comments are closed.