New Rules at Mumbai Airport | बड़ी खबर ! मुंबई एयरपोर्ट पर आने वाले इन यात्रियों को कोरोना RTPCR टेस्टिंग से छूट 

मुंबई एयरपोर्ट पर उतरने वाले डोमेस्टिक यात्रियों के लिए नियमों में कुछ छूट

नई दिल्ली (New Delhi), 14 जुलाई : (New Rules at Mumbai Airport) कोरोना (Corona) के मद्देनज़र देश में विभिन्न उपाय किये जा रहे है।  कई दिनों के प्रतिबंधों के बाद अब कुछ हद तक छूट  दी जा रही है।  महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने मुंबई एयरपोर्ट (New Rules at Mumbai Airport) पर उतरने वाले सभी डोमेस्टिक यात्रियों (Domestic traveler) के लिए नियमों में कुछ छूट दी है।  अब तक बाहर से आने वाले सभी यात्रियों (passenger) को  यात्रा से 48 घंटे पहले आरटीपीसीआर (RTPCR) की रिपोर्ट नेगेटिव होना अनिवार्य था।  यह नियम अभी भी है लेकिन इसमें कुछ बदलाव किये गए  है।  कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की दोनों डोज लेने वालों को इस नियम से छूट दी गई  है।

राज्य सरकार (State Government) के नियमानुसार राज्य में किसी माध्यम से प्रवेश करने वाले यात्रियों के लिए यात्रा (Travel) से 48 घंटे पहले उनकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव (RTPCR report negative) होना अनिवार्य है।   मुंबई (Mumbai) शहर में आने वाले सभी लोगों के लिए यह रिपोर्ट जरुरी है।  शुरुआत में केवल गुजरात (Gujarat), गोवा (Goa), दिल्ली (Delhi), राजस्थान (Rajasthan) और केरल ( Kerala) से आने वाले नागरिकों के लिए यह रिपोर्ट अनिवार्य था।  लेकिन कोरोना की बढ़ती संख्या को देखते हुए सभी यात्रियों पर यह नियम लागू किया गया है।

फ़िलहाल पुरे देश में वेक्सीनेशन मुहीम (vaccination campaign) पर जोर दिया जा रहा है।  ऐसे में कई नागरिक  वैक्सीन (Vaccine) की दोनों डोज ले चुके है।  उनके दवारा आरटीपीसीआर जांच से छूट देने की मांग की गई थी।
कई यात्री ऐसे है जो बिज़नेस के सिलसिले में मुंबई-दिल्ली (Mumbai-Delhi), गुजरात (Gujarat) या अन्य राज्यों की यात्रा करते है।
ऐसे में कम से कम समय में आरटीपीसीआर (RTPCR) टेस्ट कराना और रिपोर्ट पाना उनके लिए कठिन हो रहा था।
इसलिए वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके यात्रियों को आरटीपीसीआर (RTPCR) जांच से छूट दी जा सकती है।

 

 

Pune News | पुणे में नया अत्याधुनिक व सभी सुविधाओं से युक्त 5 हज़ार क्षमता का नया जेल बनाने पर विचार – ADG सुनील रामानंद (वीडियो)

 

Pune News | जमानत पर बाहर आये 13000 कैदियों के लिए खुशखबरी ! तब तक उन्हें वापस जेल में नहीं बुलाया जाएगा

 

You might also like

Comments are closed.