New Delhi | अब भाजपा संगठन में होगा बड़ा बदलाव ; जावड़ेकर सहित इन नेताओं को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी 

अब भाजपा संगठन में होगा बड़ा बदलाव

नई दिल्ली (New Delhi), 8 जुलाई : (New Delhi) मोदी सरकार मंत्रिमंडल (Modi government cabinet) विस्तार के बाद भाजपा संगठन (BJP organization) में पदाधिकारियों में भी बड़ा बदलाव हो सकता है।  पहले से कई पद रिक्त होने के बावजूद थावरचंद गहलोत को राज्यपाल (Governor) बनाये जाने से महत्वपूर्ण संसदीय बोर्ड (parliamentary board) में एक पद रिक्त हो गया है।  भूपेंद्र यादव (Bhupendra Yadav) को सरकार (Government) में शामिल किये जाने की वजह से महासचिव (General Secretary) का एक पद रिक्त हो गया है।

उच्च सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पार्टी के अध्यक्ष जे पी नड्डा (J P Nadda) जल्द अपनी नई टीम की घोषणा करेंगे।  उपाध्यक्ष (Vice President), महासचिव (General Secretary) और 25 मोर्चा और विभाग के प्रमुख के रूप में पार्टी संगठन स्तर (party organization level) में बड़ा बदलाव हो सकता है।  नड्डा का जोर इन विभागों और मोर्चा (front) को नई दिशा देने पर होगा।
नई नियुक्ति करते हुए पार्टी ने एक व्यक्ति, एक पद नियम का पालन किया जाएगा।  साथ ही पदाधिकारियों की नियुक्ति करते हुए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), उत्तराखंड (Uttarakhand), पंजाब (Punjab), गोवा (Goa) और मणिपुर  (Manipur) में होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly elections) को ध्यान में रखा जाएगा।  मंत्रिमंडल (cabinet) से इस्तीफा (resignation) देने वाले रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad), प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) और डॉ. हर्षवर्धन (Dr. Harsh Vardhan) जैसे बड़े नेताओं को संगठन (Organization) की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी।
अरुण जेटली (Arun Jaitley), सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) और अनंत कुमार (Ananth Kumar) के निधन के बाद संसदीय बोर्ड (parliamentary board) में उनकी जगह खाली है।  थावरचंद गहलोत को राज्यपाल बनाये जाने के बाद और एक पद रिक्त हो गया है।  संसदीय बोर्ड (parliamentary board) में एक सदस्य अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति का प्रतिनिधित्व करे इसके लिए किसी दलित या आदिवासी नेता को इन पदों पर मौका दिया जा सकता है।

गोयल को मौका

गहलोत राज्यसभा में पार्टी के नेता थे।  यह जिम्मेदारी अब पीयूष गोयल (Piyush Goyal) को दिया जा सकता है।

मुख़्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi), निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman), धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) और प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) को भी यह जिम्मेदारी दिए जाने की संभावना जताई जा रही है।

शिवराजसिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को मुख्यमंत्री बनाये जाने के बाद पार्टी में उपाध्यक्ष पद रिक्त हो गया जिसे अब तक भरा नहीं गया है।

इसे देखते हुए पार्टी सभी 10 उपाध्यक्ष पद पर इन लोगों को मौका दे सकती है।

 

 

 

 

 

Monsoon | राज्य में मानसून का कमबैक; अगले 5 दिन पुणे सहित कई जिलों में अच्छी बारिश होगी

 

Modi cabinet | इनकमिंग फायदेमंद हुआ साबित, दूसरी पार्टी से आए नेताओं को मंत्रिमंडल में बड़ा मौका…!

 

 

 

 

 

 

You might also like

Comments are closed.