मावल में राष्ट्रवादी कांग्रेस को बड़ा झटका

वरिष्ठ नेता बालासाहेब नेवाले ने हजारों समर्थकों के साथ छोड़ी पार्टी

पुणे : समाचार ऑनलाइन – ऐन विधानसभा चुनाव की घमासान के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस को मावल तालुका में बड़ा झटका लगा है। सालोंसाल तन- मन- धन से पार्टी का काम करनेवालों की बजाय भाजपा के बागी को टिकट दिए जाने से नाराज होकर राष्ट्रवादी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पुणे जिला मध्यवर्ती बैंक के निदेशक बालासाहेब नेवाले ने अपने हजारों समर्थकों के साथ राष्ट्रवादी को त्याग दिया है। अपने समर्थकों के लिए बुधवार को आयोजित एक सम्मेलन में उन्होंने यह भूमिका जाहिर की है। साथ ही दो दिन के भीतर अपनी अगली राजनीतिक दिशा तय करने की बात भी उन्होंने की है।

Loading...

मावल विधानसभा जोकि स्थानीय नेताओं की आपसी गुटबाजी के चलते लगातार राष्ट्रवादी कांग्रेस से दूर रहा और भाजपा का गड़ बन गया है, से राष्ट्रवादी के कई नेता इच्छुक थे। मगर पार्टी ने यहाँ से बजाय पार्टी के भाजपा से बगावत करने वाले सुनील शेलके को प्रत्याशी घोषित किया है। इससे बालासाहेब नेवाले काफी नाराज चल रहे हैं। मावल के ग्रामीण चेहरे की तौर पर पहचाने जानेवाले नेवाले गत 15 सालों से राष्ट्रवादी से टिकट मांग रहे हैं, मगर उन्हें लगातार दरकिनार किया जाता रहा। इस बार तो सीधे भाजपा के बागी को टिकट दिया गया। इससे उनकी नाराजगी और बढ़ गई है।

आज वडग़ांव मावल के भेगड़े लॉन्स में नेवाले ने अपने समर्थकों के लिए एक सम्मेलन का आयोजन किया था। इसमें उन्होंने और उनके करीबन दो हजार समर्थकों ने राष्ट्रवादी कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। दो दिन में अपनी अगली राजनीतिक दिशा तय करने की बात भी उन्होंने कही। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के लिए हम दिन- रात मेहनत करते रहे उसी पार्टी ने ग्रामीण अस्मिता का अपमान किया है। फिर ऐसी पार्टी के साथ रहने का क्या मतलब है? मावल के ग्रामीण क्षेत्र व लोनावला, देहूरोड, देहुगांव में करीबन दो लाख वोट हैं इसके बावजूद पार्टी ने ग्रामीण क्षेत्र पर हमेशा से अन्याय करने की भूमिका ही अपनाई। इससे तंग आकर हमने राष्ट्रवादी त्यागने का फैसला किया और अब ग्रामीण क्षेत्र की ताकत क्या होती है? यह राष्ट्रवादी को दिखा देंगे, यह चेतावनी देना भी वे नहीं भूले।

Comments are closed.