Nashik Currency Note Press | नासिक के करेंसी नोट प्रेस से 5 लाख रुपये की चोरी मामले में अब नया मोड़

नासिक करेंसी नोट प्रेस

नासिक (Nashik News) – नासिक में करेंसी नोट प्रेस (Nashik Currency Note Press) से 5 लाख रुपये के नोट गायब होने के मामले में अब एक नया मोड़ ले लिया है। पुलिस जांच (police check) में सामने आया है कि 5 लाख रुपए के नोट चोरी नहीं हुए थे। दरअसल करेंसी प्रेस (Nashik Currency Note Press) में स्टाफ ने गलती से रैक बदल दिया था। जिससे लग रहा था कि गड़बड़ी हुई है। लेकिन असल में ऐसा नहीं हुआ था। मिली जानकारी के अनुसार 12 फरवरी 2021 को 160 क्रमांक का 1 पैकेट गायब पाया गया। पुलिस (Police) में मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो पुलिस ने 2 सुपरवायजर्स को फटकार लगाया था।

कटपैक विभाग (cutpack department) के 2 सुपरवाइजरों ने 5 लाख रुपये के रैक को गलती से बदल दिया गया था, दोनों ने पुलिस को बताया। इसलिए पांच लाख का हिसाब नहीं मिल पा रहा था। करेंसी प्रेस (currency press) ने इस मामले में दोनों को सस्पेंड (Suspend) कर दिया है। यह मानवीय भूल है या जानबूझकर किया गया कार्य ? क्या इस मामले में वरिष्ठ प्रबंधक शामिल हैं? पुलिस जांच कर रही है।

क्या है पूरा मामला –

चोरी (Theft) 12 जुलाई को देश में सुरक्षा के बेहतरीन इंतजाम वाले एक करेंसी नोट प्रेस (currency note press) से हुई थी। इतनी सुरक्षा व्यवस्था (security system) के बावजूद प्रशासन हैरान रह गया कि आखिर पैसा गया कहां। भारतीय मुद्रा नोट (Indian currency notes) नासिक में संबंधित मुद्रा नोट प्रेस में मुद्रित किए जाते हैं। यहां साल भर के ढाई हजार करोड़ के नोट छापे जाते हैं। इसलिए फैक्ट्री को अत्याधुनिक सुरक्षा व्यवस्था (state-of-the-art security system) दी गई है।

 

देश में प्रतिबंध की घोषणा के बाद दिन-रात कारखाने में नोट (Notes) छापकर देश के नागरिकों को वितरित किए गए। प्रिंटिंग फैक्ट्री (printing factory) से करेंसी नोट गायब होने की गोपनीय विभागीय जांच (Confidential Departmental Inquiry) चल रही थी।

 

हालांकि, मामला तब सामने आया जब सोमवार को प्रिंटिंग प्रेस (printing press) के अधिकारी जवाबदेही के अभाव में उपनगरीय थाने पहुंचे।

 

Pune Covaxin | पुणे में अगस्त में कोवैक्सीन के निर्माण की शुरुआत, कारखाने को मिली सारी अनुमति

Sangli Crime | सांगली में निगडी के शिवसेना कार्यकर्ता की हत्या

 

 

 

You might also like

Comments are closed.