Narayan Rane | केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के ड्राइवर की मौत, परिवार वालों ने लगाए गंभीर आरोप

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे

मुंबई (Mumbai News) – केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) के ड्राइवर का दिल का दौरा पड़ने से निधन (Death) हो गया है। इसके बाद अब परिवार ने गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का आरोप है कि मेडिकल अवकाश पर रहने के दौरान निलंबित करने की धमकी (Narayan Rane) देकर उन्हें ड्यूटी पर बुलाया गया था। आरोप के बाद से पुलिस (Police) ने मामले की जांच शुरू कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, हार्ट अटैक (Heart Attack) से मरने वाले चालक की पहचान अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma) के रूप में हुई है।

जानकारी के मुताबिक, अशोक कुमार वर्मा राज्य संपत्ति विभाग (State Property Department) में ड्राइवर (Driver) के पद पर तैनात थे। जब केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Union Minister Narayan Rane) लखनऊ आए तो अशोक कुमार (Ashok Kumar) की ड्यूटी भी लगा दी गई। ड्यूटी के दौरान ही अशोक को हार्ट अटैक आया, जिसके बाद अधिकारी की गाड़ी से उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि अशोक की तबीयत खराब थी, जिस कारण वो मेडिकल लीव (Medical Leave) पर थे, लेकिन जब नारायण राणे आए तो मेडिकल छुट्टी के बावजूद अशोक को जबरदस्ती बुलाया गया।

परिजनों ने संपत्ति विभाग के मोटर इंचार्ज अमरीश श्रीवास्तव (Amrish Srivastava) पर आरोप लगाया है कि वो अशोक की बीमारी के बारे में जानते भी थे, उसके बावजूद उन्होंने फोन कर जबरदस्ती बुलाया और न आने पर सस्पेंड करने की धमकी की. जिस कारण अशोक को मजबूरन ड्यूटी करने जाना पड़ा। पुलिस (Police) ने बताया कि अशोक कुमार वर्मा की हार्ट अटैक से मौत हुई है। परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है और तहरीर दी है।

मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जो भी कारण होंगे उसके हिसाब से आगे कार्रवाई की जाएगी। अशोक लखनऊ (Lucknow) के निशातगंज में पेपर मिल कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहते थे।

 

 

Anil Deshmukh | अनिल देशमुख के ठिकाने को लेकर पूर्व मंत्री का सनसनीखेज दावा

Javed Akhtar | जावेद अख्तर विवादों के घेरे में, शिवसेना ने सामना के माध्यम से लगाई फटकार; संघ को लेकर दिए गए बयान की वजह से विवाद

You might also like

Comments are closed.