Narayan Rane | शिवसेना के कई नाराज विधायक मेरे संपर्क में – राणे का खुलासा 

रत्नागिरी (Ratnagiri News), 28 अगस्त : केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) वर्सेज शिवसेना (Shiv sena) के संघर्ष का दूसरा अध्याय आज कोंकण (Konkan) में देखने को मिला। पुलिस दवारा गिरफ़्तारी की कार्रवाई के बाद ठप हुई राणे की जन संघर्ष यात्रा (Jan Sangharsh Yatra) आज फिर से रत्नागिरी शहर से शुरू हो गई है। इसका समापन सिंधुदुर्ग (Sindhudurg) में हुआ। इन  दोनों जगहों पर राणे (Narayan Rane) ने हमेशा की तरफ आक्रामक शैली में शिवसेना पर निशाना साधा। इसका शिवसेना किस भाषा में जवाब देती है यह देखने को मिलेगा।

 

उन्होंने कहा कि सांसद विनायक राऊत (Vinayak Raut) और संजय राऊत (Sanjay Raut) दोनों शिवसेना को डुबो देंगे। शिवसेना से नाराज कई विधायक मेरे  संपर्क में है। भविष्य में महाराष्ट्र (Maharashtra) में हमारी सरकार होगी। राणे के पीछे नहीं लगे। नहीं तो मैं अभी थोड़ा बोल रहा हूं, सब बोलने लगूंगा तो आपको जमेगा नहीं। जन आशीर्वाद यात्रा (Jan Ashirwad Yatra) के सिलसले में मैं रत्नागिरी के दौरे पर था मेरे खिलाफ की गई कार्रवाई क़ानूनी कार्रवाई नहीं थी वह जबरदस्ती की गई।
सत्ता की मस्ती दिखाने का प्रयास है।  कार्रवाई करे लेकिन क़ानूनी करे। कानून के बाहर जाकर करेंगे तो सामना करना होगा।  राज्य में कोरोना से 1 लाख 27 हज़ार लोगों की मौत हुई है। देश में सबसे अधिक महाराष्ट्र में हुई है।  प्रतिबंध केवल राणे के लिए है। देश में रहता हूं, मुझ पर रोक क्यों ? यह सत्ता की मस्ती है और दूसरा कुछ नहीं।  राज्य में कानून-व्यवस्था (Law and order) नहीं बची है।
उन्होंने कहा कि जन आशीर्वाद यात्रा के जरिये लोगों की समस्याओं को समझा है।  इस यात्रा को अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मुझे मंत्रिमंडल (cabinet) में शामिल किया है। कोंकण के बेटे को मंत्री पद दिया है। मैं उनका आभारी हूं। लोगों को बाढ़, चक्रवाती तूफान में कुछ मदद मिली या नहीं ? इसकी जानकारी ली। उसकी संयुक्त रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पेश करूंगा।

 

 

Narayan Rane | दो राऊत शिवसेना को गहरे गड्ढे में डूबा देंगे – नारायण राणे

Jalgaon | मुर्गियां फेंकने के बाद.. भाजपा ने किया कार्यालय का शुद्धिकरण