नाना पाटोले ने बढ़ाया अजित पवार का टेंशन; कांग्रेस करेगी राष्ट्रवादी के किले पर आक्रमण

इंदापुर : राज्य की राजनीति में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस मित्र हैं फिर भी मौका मिलते ही दोनों एक दूसरे पर वार करने से पीछे नहीं हटते हैं। कुछ महीने पहले राज्य के कांग्रेस में फेरबदल किए गए। आक्रामक नाना पाटोले को राज्य कांग्रेस की जिम्मेदारी दी गई। महाविकास आघाडी सरकार में तीन पार्टियों की सरकार है फिर भी कांग्रेस के अस्तित्व को लेकर सवाल उठाया जाता है।

गुरुवार को पंढरपुर में उपचुनाव का प्रचार खत्म कर नाना पाटोले इंदापुर आए।  इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए नाना पाटोले द्वारा दिए गए एक बयान से सबकी भौएं तन गई। नाना पाटोले का बयान उपमुख्यमंत्री अजित पवार और राष्ट्रवादी के लिए खतरे की घंटी मानी जा रही है। नाना पाटोले ने दावा किया है कि अगले चुनाव में इंदापुर में कांग्रेस का विधायक होगा। इंदापुर की सीट कांग्रेस और राष्ट्रवादी के लिए हमेशा महत्वपूर्ण रही है।

भाजपा में प्रवेश करने वाले हर्षवर्धन पाटिल कांग्रेस के विधायक थे। हर्षवर्धन पाटिल ने 2019 के विधानसभा चुनाव से पहले यह सीट राष्ट्रवादी के लिए छोड़े जाने के कारण भाजपा में प्रवेश किया था। हर्षवर्धन पाटिल इस निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते थे, लेकिन पिछले दो चुनाव में हर्षवर्धन पाटिल के इस किले में सुरंग बनाने का काम दत्तात्रय भरणे ने किया। दत्तात्रय भरणे अजित पवार के भरोसेमंद नेता हैं। दत्तात्रय भरणे ने 2014 और 2019 के चुनाव में हर्षवर्धन पाटिल को हराया था। नाना पाटोले द्वारा दिए गए बयान से दत्तात्रय भरणे और अजित पवार दोनो का टेंशन बढ गया है।

क्या कहा नाना पाटोले ने

इंदापुर तालुके में कांग्रेस को माननेवाला बहुत बड़ा वर्ग है। गांव में कांग्रेस को लोग मानते हैं। इसलिए आने वाले विधानसभा चुनाव में इंदापुर का विधायक कांग्रेस का होगा। इसके साथ ही जो कांग्रेस को मानने वाले हैं उनके लिए इस पार्टी में जगह खाली है। सिर्फ मौके का फायदा उठाने वालों के लिए जगह नहीं है। जिन्हें एक पार्टी के रूप में काम करना है, सत्ता के लिए नहीं, ऐसे लोगों के लिए कांग्रेस का दरवाजा खुला है। 2024 में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होगी, ऐसा दावा नाना पाटोले ने किया है।

You might also like

Comments are closed.