Amruta Fadnavis | मेरा मानसिक संतुलन नहीं बिगड़ा है; अमृता फडणवीस महिला प्राइवेसी पर बोली

महिलाओं को अपने देश में बहुत कुछ सहन करना पड़ता है। इसलिए महिलाओं की निजि जिंदगी पर टिप्पणी (Amruta Fadnavis) न करें। ये गलत है। इससे दूर रहना चाहिए। अपने देश में, महाराष्त्र में भी यही होता है। किसी ने कुछ बोला तो आंदोलन (Protest) शुरू हो जाता है, लेकिन बोलने से पहले ही सोचना चाहिए, ऐसी  अपेक्षा पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष नेता देवेंद्र फ़डणवीद (Devendra Fadnavis) की पत्नी अमृता फडणवीस (Amruta Fadnavis) ने व्यक्त की।

 

अगर किसी नेता पत्नी को कहीं पार्टनर बनाता है, तो बेचारी सीधी सादी होती है। उसे किसी कंपनी में पदाधिकारी बनाता है और वहां घोटला हुआ और उसपर किसी ने आपत्ति जताया तो उस महिला पर टिप्पणी न करें। राज्य की समस्या पर ध्यान न देकर अपनी जेब भरने पर ध्यान दे रहें हैं वो गलत है, ऐसा भी अमृता फ़डणवीस (Amruta Fadnavis) ने कहा।

 

महावसूली आघाडी सरकार का जो काम शुरू है, उसे सब सौतेलेपन वाला व्यवहार बोल रहे हैं। एक जगह अलग कार्रवाई, दूसरी जगह अलग कार्रवाई की जा रही है। आरएसएस (RSS) महिलाओं का सम्मान करता है, औरत का जो सबसे ज्यादा सम्मान करता है वो आरएसएस ही है।

 

मैं जब बोलती हूँ उस समय आप भूल जाएं कि मैं देवेंद्र फडणवीस की पत्नी हूँ। मुझे भी सड़कों के गड्ढे और अन्य बातों से परेशानी होती है। मैं सामान्य औरत की तरह ही बाहर निकलती हूँ। मुझे बोलते हैं कि मेरा मानसिक संतुलन बिगड़ गया है, ऐसा कुछ नहीं है। मुंबई के ट्रैफिक जाम (Mumbai Traffic Jam) की वजह से 3% तलाक होते हैं, वे अपने परिवार को समय नहीं दे सकते। आप इसपर नहीं बोलेंगे तो क्या करेंगे, इन शब्दों में अमृता ने आलोचकों को जवाब दिया है।

 

 

HBD Urmila Matondkar | रंगीला गर्ल ने दी कई हिट फिल्में, फिर भी फिल्मी करियर पर लगा ब्रेक

Pune Yerwada Building Collapse | पुणे के येरवडा में स्लैब गिरने  के कारण हुए हादसे में बिल्डर व ठेकेदार पर मामला दर्ज; CP अमिताभ गुप्ता ने दी जानकारी

You might also like

Comments are closed.